अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएमसीएच में फिर हड़ताल

पीएमसीएच के जूनियर डाक्टर सोमवार की शाम पांच बजे से एक बार फिर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। सोमवार शाम हुई जूनियर डाक्टरों की बैठक में सर्वसम्मति से हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया। एसोसिएशन ने अपनी मांगों पर विचार के लिए सरकार को 72 घंटे का समय दिया था। सरकार और अस्पताल प्रशासन जूनियर डाक्टरों की ‘गुंडई’ के आगे हमेशा बेबस साबित हुए हैं।ड्ढr ड्ढr जूनियर डाक्टरों ने पांच जून के बाद मात्र 72 घंटे काम किया है। विगत ग्यारह दिनों में न तो उन्होंने काम किया है और न ही सीनियरों को काम करने दिया। 5 जून को तीन फोटोग्राफरों को बुरी तरह मारने के बाद हड़ताल पर गए जूनियर डाक्टर सशर्त वापस लौटे थे। सरकार ने 32 डाक्टरों की प्रतिनियुक्ित कर छुट्टी पा ली। सोमवार शाम से शुरू हुई हड़ताल के दौरान कामकाज ठप रहा। अधीक्षक ने सीनियरों के भरोसे इमरोंसी और अस्पताल चलाने का दावा किया। अधीक्षक डा. ओ पी चौधरी ने बताया कि जूनियर डाक्टर 11 साथियों के निलंबन की वापसी पर अड़े है। सूत्रों का कहना है कि जब तक हॉस्टल खाली नहीं कराया जाएगा तब तक जूनियर डाक्टरों की मनमानी नहीं रुकेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीएमसीएच में फिर हड़ताल