DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विशेष दर्जे की मांग पर भाजपा का रेल चक्का जाम

विशेष दर्जे की मांग पर भाजपा का रेल चक्का जाम

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। विशेष राज्य का दर्जा के मसले पर भाजपा के रेल रोको अभियान में लगभग दस दर्जन ट्रेनें प्रभावित हुईं। दानापुर, सोनपुर, समस्तीपुर, मुगलसराय, बनारस, कटिहार व मालदा रेल मंडल की बिहार से खुलने या होकर गुजरने वाली 119 ट्रेनें जहां-तहां घंटों खड़ी रहीं। छोटे-बड़े स्टेशनों पर ट्रेनों के खड़ा होने से यात्रियों को काफी परेशानी हुई। महिलाएं, वृद्ध व बच्चों भोजन-पानी के लिए परेशान रहे तो दूसरी ओर रेलवे को लाखों का नुकसान भी हुआ।

भाजपा के रेल रोको अभियान का सबसे अधिक असर दानापुर रेल मंडल पर हुआ। राजधानी एक्सप्रेस को भी दानापुर स्टेशन पर रोककर रखा गया। पूर्व मध्य रेल के अधिकारियों के अनुसार दानापुर रेल मंडल से खुलने या इस डिवीजन से गुजरने वाली कुल 26 मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें घंटों छोटे-बड़े स्टेशनों पर खड़ी रही।

इसके अलावा 20 पैसेंजर ट्रेनें भी भाजपा कार्यकर्ताओं के निशाने पर आए। वहीं समस्तीपुर रेल मंडल में आठ एक्सप्रेस तो 16 पैसेंजर ट्रेनों को जहां-तहां रोककर रखा गया।

मुगलसराय रेल मंडल में आठ पैसेंजर और आठ एक्सप्रेस ट्रेनों को जहां-तहां रोककर रखा गया। इस डिवीजन की ट्रेनें मुगलसराय-गया रेलखंड में रुकी रहीं। वहीं, बनारस रेल मंडल में छपरा की ओर आने-जाने वाली 12 ट्रेनें प्रभावित हुईं।

सोनपुर डिवीजन में सात एक्सप्रेस तो चार पैसेंजर ट्रेनों को रोककर रखा गया। मालदा डिवीजन की विक्रमशिला एक्सप्रेस, दादर-भागलपुर सहित कुल छह ट्रेनें भागलपुर और इसके आगे-पीछे के स्टेशनों पर खड़ी रहीं। कटिहार डिवीजन की चार ट्रेनें कुछ घंटे तक बाधित हुईं।

रेल मंडल प्रभावित ट्रेनें दानापुर 46 समस्तीपुर 24 मुगलसराय 16 बनारस 12 सोनपुर 11 मालदा 06 कटिहार 04।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विशेष दर्जे की मांग पर भाजपा का रेल चक्का जाम