DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा का 100 ट्रेने रोकने का दावा

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। बिहार को विशेष राज्य के दर्जे के समर्थन में भाजपा ने शुक्रवार को रेल चक्का जाम किया। पार्टी ने आंदोलन को सफल होने का दावा किया है। शुक्रवार को यहां प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और विधानसभा में विपक्ष के नेता नंदकिशोर यादव ने दावा किया कि राज्य भर में 100 से अधिक ट्रेनें सांकेतिक रूप से घंटे-दो घंटे के लिए रोकी गईं।

वहीं विभिन्न जगहों पर नेताओं-कार्यकर्ताओं समेत बड़ी संख्या में लोगों ने गिरफ्तारी दी। पटना में सचिवालय हाल्ट पर रेल रोको आंदोलन का नेतृत्व प्रमुख भाजपा नेता श्री मोदी, श्री यादव, प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय और विधायक नितिन नवीन ने किया।

उन्होंने वहां गिरफ्तारी भी दी। बाद में पुलिस ने उनको छोड़ दिया। श्री यादव ने कहा कि आंदोलन में रालोसपा की भी भागीदारी रही। आंदोलन पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। श्री मोदी ने कहा कि आम चुनाव की घोषणा में अभी हफ्तेभर का समय है।

जिस तरह सीमांध्र को महज कुछ घंटों में बिना किसी मानक या कमेटी की बैठक के विशेष दर्जा दे दिया गया, केंद्र चाहे तो इस बीच (अधिसूचना से पूर्व) बिहार को विशेष दर्जा की घोषणा कर सकता है।

अन्यथा केन्द्र की कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकार को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। भाजपा इस मुद्दे को चुनाव में प्रमुखता से उठाएगी। यह पार्टी और एनडीए के बिहार के चुनावी घोषणा पत्र में भी शामिल होगा। उन्होंने कहा कि सिर्फ विशेष दर्जा से बात नहीं बनेगी।

हम चाहते हैं कि बिहार को विशेष दर्जा के साथ ही पैकेज भी मिले। यदि कांग्रेस की सरकार ने ऐसा नहीं किया तो केन्द्र में भाजपा की सरकार बनने पर इसे अंजाम तक पहुंचाया जाएगा। इस मौके पर भाजपा नेताओं में सुधीर शर्मा, संजीव चौरसिया, संजय मयूख, अशोक भट्ट आदि मौजूद थे। अन्य जगहों पर रेल रोको आंदोलन में प्रमुख पार्टी नेताओं में गिरिराज सिंह, मुजफ्फरपुर, राजेन्द्र नगर टर्मिनल पर अरुण कुमार सिन्हा और छपरा में जनार्दन सिंह सिग्रीवाल शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा का 100 ट्रेने रोकने का दावा