DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमारे देश के वैज्ञानिक व शोध विश्वभर में मशहूर

बोधगया-हमारे प्रतिनिधि। मगध विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर रसायनशास्त्र विभाग में विज्ञान दिवस के मौके पर शुक्रवार को ‘फोस्टरिंग साइंटिफिक टेम्पर’ पर आयोजित सेमिनार में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए मगध विश्वविद्यालय के वीसी डॉ़ मो़ इश्तियाक ने कहा कि हमारे देश के वैज्ञानिक तथा वैज्ञानिक शोध पूरे वशि्व में मशहूर हैं। आज विज्ञान दैनिक जीवन का महत्वपूर्ण अंग बन चुका है चाहे वह कृषि का क्षेत्र हो या अध्ययन का पटल।

उन्होंने जोर देकर कहा कि वैज्ञानिकों को ऐसी तकनीक का विकास करना चाहिए जो हमारे प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग आम आदमी के लिए सहज बना सके। उन्होंने घोषणा की कि ऐसे सेमिनार विश्वविद्यालय में निरंतर आयोजित किये जाने चाहिए और इसके लिए जो भी सहयोग हो सकेगा विश्वविद्यालय करेगी।

आइएससीएस चैप्टर बोधगया द्वारा आयोजित सेमिनार के शुभारंभ के मौके पर स्नातकोत्तर रसायनशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ़ शविाधार शर्मा ने कहा कि हमारे देश के महान वैज्ञानिक चंद्रशेखर वेंकटरमण द्वारा 1928 में जो शोध किये गये थे वह रमण इफेक्ट के नाम से मशहूर हुआ और उन्हें नोबेल पुरस्कार मिला।

उन्होंने कहा कि विज्ञान आज दैनिक जीवन का अंग बन चुका है। इस मौके पर बोलते हुए मगध विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ़ डीके यादव ने कहा कि आज जरूरत इस बात की है कि विज्ञान के शोध को गरीबों के जीविकोपार्जन का साधन बनाया जाय।

ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों तथा स्कूलों में विद्यार्थियों को वैज्ञानिक शोध की जानकारी देकर प्रोत्साहित करने की जरूरत पर उन्होंने बल दिया। जानेमाने प्राणी विज्ञानी डॉ़ बीएन पांडेय ने जापान के वैज्ञानिक मसारो इनाटो के द्वारा पानी पर 60 वषरे तक किये गये शोध एवं शांति तथा युद्ध के मौके पर इसकी बदलने वाली फितरत पर ‘इंटरनेशल वाटर फोर्सबि फाउन्डेशन’ का शोध का प्रदर्शन किया।

उन्होंने विभिन्न स्थितियों में पानी की बदलने वाली फितरत को बखूबी दर्शाया। श्रोत से निकलकर जमीन तक पहुंचने में पानी कितना प्रदूषित हो जाता है तथा मनुष्य के शरीर में पानी की कमी होने पर क्या स्थिति होती है यह भी दर्शाया गया। सेमिनार के मौके पर मगध विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ़ उपेन्द्र नाथ वर्मा और महासचवि डॉ़ पीयूष कमल सिन्हा समेत बड़ी संख्या में शिक्षक तथा छात्र मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हमारे देश के वैज्ञानिक व शोध विश्वभर में मशहूर