DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खिलने से पहले ही नालंदा में मुरझाया कमल

बिहारशरीफ (हि.प्र.)। नालंदा में कमल खिलने से पहले की मुरझा गया है। लोकसभा चुनाव में लोजपा से तालमेल के बाद नालंदा लोकसभा संसदीय सीट पर लोजपा के खाते में सीट चले जाने से भाजपाइयों में मायूसी है। लोजपा के खाते में सीट चले जाने का असर शुक्रवार को आहूत बंद पर भी असर पड़ा। रेल चक्का जाम करने में भाजपा के कई दिग्गज नेता मैदान में नहीं उतरे।

कुछ नेता ही बंद कराने में दिखाई दिये। और तो और जिस उमंग से बिहार बंद कराने को सफल कराने में लगे थे बंद के दिन एकदम उमंग नहीं दिखाया। यहां तक ही विरोधियों में चर्चा है कि नालंदा में कमल खिलने के पहले ही मुरझा गया है। जदयू से अलग होने के बाद भाजपा के कई तेज तर्रार नेता चुनावी मैदान बनाने में लगे थे। ताकि जदयू को शिकस्त दिया जा सके। यहां तक ही लोकसभा चुनाव में टिकट का दावा करने करने वाले कई नेताओं की बोलती बंद हो गयी है।

अटकलें लगायी जा रही हैं कि लोकसभा जाने का सपना चकनाचूर होते देख कुछ नेता अन्य पार्टियों में ताक झांक करने में जुट गये हैं। सूचना यह भी है कि जिलास्तर के नेता प्रदेश स्तरीय नेताओं से संपर्क कर बदलते हालत पर मंत्रणा कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खिलने से पहले ही नालंदा में मुरझाया कमल