DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा को सिर्फ दिल्ली की कुर्सी पर नजर : श्रवण

राजगीर। नि.सं.। भाजपा का रेल रोका अभियान पूरी तरह टांय-टांय फिस्स हो गया। इन लोगों के पास रेल रोकने के लिए जन समर्थन भी नहीं मिल सका। इनका आंदोलन पूरी तरह फ्लॉप हो गया। जनता इनकी चाल को समझ चुकी है। लोक सभा चुनाव आया है तो ये बिहार को विशेष राज्य का दर्जा का राग अलापने लगे हैं। भाजपा को तो सिर्फ दिल्ली की कुर्सी पर नजर है।

जनता सब देख रही है। भाजपा के नेता विधवा विलाप कर रहे है। चुनाव आने पर इनकी व्याकुलता सिर्फ दिखावा है। उक्त बातें मुख्य सचेतक श्रवण कुमार ने शुक्रवार को भाजपा के रेल रोको अभियान को फ्लॉप बताते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि राजगीर में श्रमजीवी को रोकने के लिए महज चंद लोग ही आ सके। इनके पास तो आम लोगों का समर्थन भी नहीं है। भाजपा घडिम्याली आंसू बहा रही है। जनता इनको आने वाली चुनाव में करारा जवाब देगी।

जदयू के डॉ. अनिल कुमार, जयराम सिंह, मीरा कुमारी, पिंकु सिंह, मुन्ना कुमार, अजीत कुमार वर्मा, मुन्ना पासवान, शबिु, अनुप कुमार, अमित कुमार, शंकर महतो, सुबेन्द्र राजवंशी, सतीश कु मार, सचिन कुमार सहित अन्य ने कहा कि भाजपा द्वारा शुक्रवार को राजगीर में रेल का चक्का भी नहीं जाम हो सका। इनके पास लोगों का कोई समर्थन नहीं है।

महज दस लोग भी ट्रेन को रोकने में नहीं जुट सके। यह बंद पूरी तरह फ्लॉप साबित हुआ है। लोगों ने कहा कि दो मार्च को बिहार बंद के दौरान जदयू को पूरी जनता का समर्थन होगा। सभी लोग बिहार को विशेष राज्य का दर्जा की मांग को लेकर सड़क पर उतरेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा को सिर्फ दिल्ली की कुर्सी पर नजर : श्रवण