DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कागज पर स्कूल, सैकड़ो बच्चों देते हैं हर साल परीक्षा

मुजफ्फरपुर। कार्यालय संवाददाता। स्कूल का पता नहीं, पर हर साल सैकड़ो बच्चों मैट्रिक परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। पिछले आठ साल से बंद बागमती हाईस्कूल जनाढ़ में कई शिक्षक भी पदस्थापित है। औराई प्रखंड के छात्रों व अभिभावकों ने शुक्रवार को स्कूल की व्यवस्था में सुधार के लिए डीएम से गुहार लगाई है।

साथ ही शनिवार से भूख हड़ताल का निर्णय निर्णय लिया है। ग्रामीण विक्रान्त वत्सल, रामकृष्ण चौधरी, विनोद कुमार, श्याम कुमार साह, रामबाबू साह समेत कई ने बताया कि बागमती बांध परियोजना में दोनों बांधों के भीतर बागमती उच्च विद्यालय जनाढ़ पूरी तरह ध्वस्त हो गया था। अब तक यह स्कूल बंद है। जबकि उस समय इसे दूसरी जगह पुनस्र्थापित करने का निर्देश दिया गया था। आरोप लगाया कि पिछले आठ साल से एक दिन भी पढ़ाई नहीं हुई, लेकिन हर साल 500-800 बच्चों मैट्रिक का फॉर्म भरते हैं।

कागज पर चल रहे इस स्कूल में छह शिक्षक भी कार्यरत हैं। लालबाबू राय, पवन कुमार झा आदि ग्रामीणों ने बताया कि मध्य विद्यालय के ही एक कमरे में इस स्कूल का कागजात संबंधित सारा काम होता है। आठ साल मे दर्जनों बार विभाग व प्रशासन से गुहार लगाई गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कागज पर स्कूल, सैकड़ो बच्चों देते हैं हर साल परीक्षा