अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एटमी करार पर करात से मिले प्रणव

भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु समझौते को आगे बढ़ाने के संबंध में वाम दलों का समर्थन जुटाने के लिए विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने सोमवार रात माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता प्रकाश करात के साथ मुलाकात की।ड्ढr मुखर्जी ने करात से अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) के साथ ‘सेफगार्ड समझौते’ को अंतिम रूप देने में वामदलों का सहयोग सुनिश्चित करने की मांग की। इस समझौते के बारे में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) और वाम दलों की 15 सदस्यीय संप्रग-वाम समिति के प्रमुख मुखर्जी ने करात के साथ करीब आधे घंटे तक बातचीत की। विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि बैठक में मुखर्जी ने ‘सेफगार्ड समझौते’ को अंतिम रूप देने में वामदलों के समर्थन की आवश्यकता दोहरायी। दरअसल, आईएईए के महानिदेशक मोहम्मद अल बरदई के जुलाई में खत्म हो रहे कार्यकाल से पहले इसे अंतिम रूप दिया जाना जरूरी है। संप्रग-वाम समिति की बैठक बुधवार को होने वाली है। सूत्रों के अनुसार मुखर्जी ने करात से कहा कि वाम दलों को सरकार पर विश्वास करना चाहिए और उन्होंने कहा कि सरकार ने अब तक कोई भी कदम वामदलों की सहमति के बिना नहीं उठाया। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार करात ने मुखर्जी से कहा कि वामदलों को परमाणु समझौते के प्रति अभी भी कुछ शंकाएं हैं, लेकिन वह मंत्री की नई अपील के बारे में अन्य वाम दलों के नेताओं से चर्चा के बाद सरकार को उनके मत से अवगत कराएंगे।मुखर्जी ने करात से कहा कि परमाणु मुद्दे पर सरकार भविष्य में भी कोई कदम वाम दलों से चर्चा के बिना नहीं उठाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एटमी करार पर करात से मिले प्रणव