DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्टिलाइजर्स की कमी से संकट

इस साल प्रोडक्शन में आई गिरावट से देश के कई भागों में फर्टिलाइजर्स की कमी पैदा हो गई है, 2007-08 के दौरान देश का कृषि उत्पादन 30 लाख टन गिरा है। कृषि क्षेत्र में यह गिरावट पहली बार वर्ष 2003-04 में दर्ज की गई थी। कच्चे माल की आपूर्ति में होने वाली दिक्कत और सब्सिडी पेमेंट में सरकारी देरी की वजह से कंपनियां भी फर्टिलाइजर्स के उत्पादन में कटौती करने पर विवश हैं। फर्टिलाइजर्स में इस गिरावट के साथ एक सच्चाई यह भी जुड़ी हुई है कि वर्ष 10 से ही देश में फर्टिलाइजर्स के उत्पादन में खास बढ़ोत्तरी देखने को नहीं मिली। इसका नतीजा 2007-08 में देखने को मिला जब फर्टिलाइजर का आयात बढ़कर 14 मिलियन टन पहुंच गया। विशेषज्ञों की राय में यह स्थिति 2-3 सालों में और भी ज्यादा खराब हो सकती है।ड्ढr अगर एसा हुआ तो इसका परिणाम कृषि उत्पादन में कमी के रूप में देखने को मिलेगा। खाद्द पदार्थो के मूल्य पहले से ही आसमान छू रहे हैं। एग्रीकल्चर प्रोडक्शन में इस कमी से यह और भी बढ़ सकते हैं। फर्टिलाइजर्स की कमी पूर विश्व में बनी हुई है। क्रूड ऑयल में हुई मूल्य वृद्धि से फर्टिलाइजर मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री भी अछूती नहीं रही क्योंकि क्रूड ऑयल के डेरिवेटिव्स का प्रयोग फर्टिलाइजर प्लांट में किया जाता है। प्रोडक्शन कॉस्ट अधिक होने की वजह से भारत में सरकार किसानों को सब्सिडाइज कॉस्ट पर फर्टिलाइजर उपलब्ध कराती है। बाद में कंपनियों को हुए नुकसान की भरपाई उचित प्रॉफिट के साथ सरकार द्वारा कर दी जाती है। फर्टिलाइजर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक 2006-07 के 362 लाख टन उत्पादन के मुकाबले 2007-08 में फर्टिलाइजर्स का उत्पादन गिरकर 332 लाख टन रह गया।ड्ढr फर्टिलाइजर विभाग के सचिव जे. एस. शर्मा ने फर्टिलाइजर्स के उत्पादन में कमी की बात को नकार दिया जबकि फर्टिलाइजर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एफएआई) के महानिदेशक सतीश चंद्र का कहना है कि उन्होंने डाटा नहीं देखा है लेकिन आने वाले दो वर्षों में फर्टिलाइजर्स की उपलब्धता एक मुद्दा हो सकता है।ड्ढr अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि देश में फर्टिलाइजर्स कासीमित उत्पादन है और एक रात में इसे नहीं बढ़ाया जा सकता। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फर्टिलाइजर्स की कमी से संकट