DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आइएफएस पर होगा मुकदमा

झारखंड के एक आइएफएस नरंद्र मिश्र ने पलामू टाइगर प्रोजेक्ट समेत राज्य की अन्य आश्रयणियों में बाघों की संख्या शून्य होने के लिए भारतीय वन सेवा के नौ अधिकारियों को जिम्मेवार ठहराते हुए उनके खिलाफ मुकदमे की अनुमति मांगी है। इस संबंध में उन्होंने सरकार को पत्र लिखा है। इसमें राष्ट्रीय व्याघ्र संरक्षण एवं भारतीय वन्यप्राणी संस्थान देहरादून की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि पलामू आश्रयणी एवं नेशनल पार्क में एक भी बाघ नहीं बचा है। पत्र में कहा गया है कि बाघों की या तो तस्करी की गयी है या उन्हें मार कर बेच दिया गया है। आइएफएस मिश्र ने कहा है कि वन अधिकारी इस अपराध में सहभागी रहे हैं, साक्ष्यों को गायब किया है और सरकार को गलत सूचना दी है।ड्ढr आइएफएस मिश्र ने जिन अधिकारियों पर मुकदमे की अनुमति मांगी हैं, उनमें सेवानिवृत्त पीसीसीएफ जेएल श्रीवास्तव, पूर्व चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन यूआर विश्वास, एके मल्होत्रा, पलामू टाइगर प्रोजेक्ट के पूर्व परियोजना निदेशक एएन प्रसाद, वर्तमान पीसीसीएफ (वाइल्ड लाइफ) एके सिंह, पलामू टाइगर प्रोजेक्ट के परियोजना निदेशक आरएन प्रसाद, सीएफ और पलामू बफर एरिया के सीएफ मनोज सिंह, बेतला के अधिकारी एलपी गुप्ता, लातेहार के अधिकारी इजराहुल हक और बीके श्रीवास्तव के नाम शामिल हैं। यदि सरकार इन अफसरों को मुकदमे की अनुमति नहीं देती है, तो श्री मिश्र वन्यप्राणी सुरक्षण अधिनियम 1े तहत 60 दिन के बाद सीजेएम की अदालत में मुकदमा करंगे।ड्ढr आइएफएस मिश्र ने कहा है कि राष्ट्रीय व्याघ्र संरक्षण प्राधिकरण और भारतीय वन्यप्राणी संस्थान देहरादून की रिपोर्ट में झारखंड में बाघों की संख्या शून्य बतायी गयी है, जबकि टाईगर प्रोजेक्ट के परियोजना निदेशक आरएन प्रसाद ने गत वर्ष बाघों की संख्या 17 बतायी है। वहीं वर्ष 2005 में निदेशक टाईगर प्रोजेक्ट एएन प्रसाद ने बाघों की संख्या 28 बतायी है। पत्र में कहा गया है कि दो वर्षोँ के अंतराल में बाघों की संख्या में भारी अंतर होना फि र संख्या शून्य हो जाना कई सवाल खड़ा करता है।ड्ढr मंत्री ने सीबीआइ जांच की बात कही थीड्ढr वर्ष 2005 में राज्य के पूर्व वन मंत्री हरिनारायण राय ने बाघों की संख्या और सुरक्षा के मामले में सीबीआइ जांच कराने की बात कही थी। वन मंत्री के पद से हटते ही सीबीआइ जांच की अनुशंसा की बात हवा हो गयी। जबकि देश में लुप्त हो रहे बाघ को लेकर केंद्र सरकार चिंतित है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आइएफएस पर होगा मुकदमा