अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जापान तलाशेगा सूबे में पनबिजली की संभावना

मंगलवार को जापानी विशेषज्ञों का एक दल सूबे में पनबिजली की संभावनाओं की तलाश में पांच दिवसीय दौर पर पहुंचा। जापानी विशेषज्ञों ने मंगलवार को ऊर्जा मंत्री रामाश्रय प्रसाद सिंह से मुलाकात की और उन्हें जापान की ओर से भरपूर सहयोग का आश्वासन भी दिया। इसके पूर्व विशेषज्ञों ने बीएचपीसी मुख्यालय में अधिकारियों से बैठक भी की। ऊर्जा मंत्री ने जापानी विशेषज्ञों से बिहार में पनबिजली की संभावनाओं की तलाश में सकारात्मक सहयोग की अपेक्षा की।ड्ढr जापान की खास दिलचस्पी हथियादह-दुर्गावती परियोजना को लेकर है। हालांकि वह अन्य परियोजनाओं के लिए संभावनाओं को भी खोजेगा। जापान की (जे पावर) इलेक्िट्रक पावर कारपोरशन ने इसमें विशेष रुचि दिखलाई है।ड्ढr ड्ढr संस्था के निदेशक एस. कोन्डो के नेतृत्व में पांच विशेषज्ञ कैमूर जाकर परियोजना का स्थल निरीक्षण करंगे। इसके बाद जापानी विशेषज्ञ अध्ययन रिपोर्ट तैयार कर परियोजना के कार्यान्वयन के संबंध में अपनी सिफारिश बिहार सरकार को करंगे। टीम में पनबिजली क्षेत्र के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ टीसूयोसी नाकाहाता और भूविज्ञानी अकिरा अमानो भी शामिल हैं। श्री कोन्डो इस वर्ष जनवरी में स्थल के प्रारंभिक अध्ययन के लिए बिहार आ चुके हैं। बिहार की परियोजना के लिए जेबीआईसी जैसी अंतरराष्ट्रीय संस्था से आर्थिक मदद मिलने की भी उम्मीद है। यह दल 20 जून तक बिहार में सव्रे करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जापान तलाशेगा सूबे में पनबिजली की संभावना