DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएमसीएच के वार्डो में बरसात का पानी टपक रहां

एनएमसीएच में पीडब्ल्यूडी (भवन) एवं पीएचईडी द्वारा जीर्णोद्धार के नाम पर चलाए जा रहे कार्यो से अस्पताल व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। भवनों एवं शौचालय आदि को तोड़ देने से वार्डो में पानी टपक रा है। वहीं दर्जनों सिलिंग फैन जग गया है तथा ओटी के करोड़ों की मशीन खराब हो रहे हैं। मरीज, डाक्टर एवं स्वास्थ्यकर्मियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अस्पताल प्रशासन को अस्पताल व्यवस्था को व्यवस्थित करने में काफी मुश्किलें हो रही है।ड्ढr ड्ढr बताते चलें कि यह जीर्णोद्धार कार्य लगभग दो वर्षो से चल रहा है। बेड पर पानी टपकने से मरीजों को बेड पर रहना मुश्किल हो गया है। वहीं डाक्टर को भी मरीजों का इलाज के लिए दिक्कतें उठानी पड़ रही है। डाक्टरों के अनुसार जीर्णोद्धार के नाम पर जितनी राशि इस भवन पर खर्च की जा रही है इससे कम खर्च में एक अच्छी विलडिंग पूर संसाधनों के साथ बनकर तैयार हो जाएगा। अधीक्षक डा. एन.पी. यादव ने बताया कि भवन विभाग द्वारा किया जा रहा कार्य का सत्यापन अस्पताल प्रशासन से नहीं ली जाती है। जिससे यह समस्या उत्पन्न हो गई है। अस्पताल प्रशासन द्वारा संबंधित विभाग के सचिवों को अस्पताल में होने वाली परशानियों से अवगत कराया गया है। पीएचईडी ने भी अस्पताल के सभी बाथ रूम एवं शौचालय तोड़कर एक नई मुसीबत मरीजों के लिए खड़ी कर दी है। उन्होंने अस्पताल परिसर में हो रही कार्यो की समीक्षा कराने की मांग सरकार से की है। अस्पताल के कई विभागों में लगाए गए टाइल्स टूटने लगे हैं। अभी तो बरसात की शुरूआत है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एनएमसीएच के वार्डो में बरसात का पानी टपक रहां