अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारी वर्षा से जन-चाीवन अस्त-व्यस्त

पिछले चौबीस घंटे से हो रही झमाझम वर्षा ने सूबे का जन जीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। रलगाड़ियों के परिचालन पर बुरा असर पड़ा है। खराब मौसम के कारण सीएम मधु कोड़ा को आज अपनी जमशेदपुर व चाईबासा की यात्रा रद्द कर देनी पड़ी। भारी वर्षा के कारण राजधानी रांची के एक दर्जन से अधिक मुहल्ले में झील में तब्दील हो गये हैं। पटरियों पर जल जमाव और हाईटेंशन तार टूटने से मंगलवार को दोपहर दो बजे के बाद तक टाटानगर, खड़गपुर, चांडिल और सीनी रल मार्ग में ट्रेनों का आवागमन पूरी तरह बाधित रहा। छह एक्सप्रेस और दो सवारी गाड़ी सहित दर्जनों मालगाड़ियां जहां-तहां खड़ी रहीं। खड़गपुर में रल लाइन पानी में डूब गयी है वहीं चांडिल और सीनी रल खंड पर हाई टेंशन का तार टूट गया है। टिस्को क्षेत्र क की कुंवर बस्ती में बिजली का तार टूटने से संतोष चौधरी नामक 20 वर्षीय युवक के मरने की खबर है। राजधानी रांची में कई निचले मुहल्ले में जल जमाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। राजभवन के गेट के आगे का नजारा किसी झील से कम नहीं था। मुक्ितधाम के पास कीचड़ से भरी हरमू नदी की तेज धार आज देखते बन रही थी। जमशेदपुर के जुब्ली पार्क में दो से तीन फुट पानी के जमाव की खबर है। टाटी सिलवे में थाना के पास एक वृक्ष के धराशायी हो जाने से वाहनों को क्षति पहुंची है। भारी वर्षा के मद्देनजर कोयलांचल के खदानों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। सोमवार की आधी रात से हो रही मूसलाधार वर्षा ने राजधानी की सूरत बिगाड़ दी है। वर्षा का क्रम मंगलवार को भी जारी है। एचइसी के विभिन्न सेक्टरों में अवस्थित 12 हाार से अधिक आवासों का ऊपरी छज्जा चूने लगा है। दूसरी ओर शहर के केएम मल्लिक रोड, लोअर शिवपुर, आर्यपुरी, पंचशील नगर, लोअर शाहदेव नगर, मछलीनगर, लोहरकोंचा, पतलकुदवा, गौस नगर, मौलाना आजाद कालोनी, कृष्णपुरी आदि इलाके में जल जमाव के कारण झील सा नजारा उपस्थित हो गया है। कीचड़युक्त पानी के फैलाव के कारण कई मुहल्लों की स्थति नारकीय हो गयी है। पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल में भी भारी तबाही की खबर है। दक्षिण चौबीस परगना में मंगलवार की सुबह काकद्वीप से मछली पकड़ने के लिए निकले 30 मछुआरों का दल ट्रालर सहित लापता है। सियालदह मेन शाखा में ओवरहेड को तार टूटने से रानाघाट स्टेशन से कृष्णानगर, शांतिपुर, बनगांव और नैहटी रूट में ट्रेनों की आवाजाही बंद हो गयी। इससे नाराज ट्रेन यात्रियों द्वारा किये गये अवरोध से तीन ट्रेनों को क्षति पहुंची। लोगों की उग्र भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को पहले लाठी चार्ज करने के साथ ही कई राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी। बाद में किसी ताह हालात पर काबू पाया जा सका। अगले 48 घंटे में भी बारिश से राहत की उम्मीद नहींड्ढr त्त्डिप्रेशन में बदला कम दबावड्ढr संवाददाता रांचीड्ढr झारखंड में लोगों को अगले 48 घंटें बारिश से राहत की उम्मीद नहीं है। मौसम ऐसा ही रहेगा। वर्षा का क्रम जारी रहेगा। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र डिप्रेशन में बदल गया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग नयी दिल्ली के वरिष्ठ वैज्ञानिक अशोक कुमार बखला ने दूरभाष पर यह जानकारी दी।ड्ढr बखला ने बताया कि अभी बादल पूरी तरह से झारखंड के ऊपर ही केंद्रित है। इसके उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ने के संकेत हैं। इससे इसके बंगलादेश की ओर चले जाने की संभावना है। मानसूनी ट्र्फ अनुपगढ़, चुरू, कानपुर, वाराणसी और दुमका के ऊपर बना हुआ है। वर्तमान स्थिति में गंगा के मैदानी भाग, झारखंड, उड़ीसा सहित आसपास के इलाकों में अगले दो दिन में जबरदस्त बारिश होगी। कई जगहों पर 25 सेंमीटर तक बारिश हो सकती है। उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड के कई इलाकों में अच्छी बारिश हो सकती है। यह खरीफ की खेती के लिए काफी लाभप्रद है। किसान इसकी तैयारी कर सकते हैं। ड्ढr प्रभावित ट्रेनें, बंधक बने एसएम व गार्डड्ढr संवाददाता जमशेदपुरड्ढr भारी वर्षा ने खड़गपुर रल ख्ांड में भारी तबाही मचायी। पटरियों पर पानी आ जाने के कारण चक्रधरपुर से खड़गपुर के बीच इस्पात एक्सप्रेस को रद्द कर देना पड़ा। जन शताब्दी एक्सप्रेस के पांच दर्जन से अधिक यात्रियों के पैसे वापस किये गये। पुरी दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, हावड़ा-हटिया, छपरा-टाटा, दानापुर-दुर्ग, हावड़ा-बड़बिल जनशताब्दी, धनबाद-टाटा स्वर्णरखा और मुंबई-हावड़ा गीतांजली एक्सप्रेस को घंटों जहां तहां खड़ा करना पड़ा। कई स्टेशनों पर गुस्साये यात्रियों के कोपभाजन का शिकार रलकर्मियों को होना पड़ा। ब्रजराजपुर रलवे स्टेशन पर फंसे पुरुषोत्तम एक्सप्रेस के यात्रियों ने स्टेशन मास्टर और रलवे गार्ड पीएस चटर्ाी को ही कुछ देर के लिए बंधक बना लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारी वर्षा से जन-चाीवन अस्त-व्यस्त