अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीमावर्ती जिलों में लग रहा रोमिंग चार्ज

राज्य के सीमावर्ती जिलों में बीएसएनएल मोबाइल पर रोमिंग लग रहा है लेकिन इससे बीएसएनएल के पदाधिकारी अनभिज्ञ हैं। जबकि सीमावर्ती जिलों में रोमिंग का चार्ज नहीं लगना चाहिए। बीएसदएनएल के पदाधिकारियों का कहना है कि ऐसा हो ही नहीं सकता है जबकि सच्चाई यह है कि राज्य के सीमावर्ती जिलों में रोमिंग चार्ज जारी है। दरअसल बीएसएनएल बिहार परिमंडल में मोबाइल का रोमिंग चार्ज नहीं लगता है लेकिन उपभोक्ताओं की शिकायत है कि राज्य के सीमावर्ती जिलों में जाने पर भी रोमिंग चार्ज लग रहा है।ड्ढr ड्ढr हालांकि बीएसएनएल के मुख्य महाप्रबंधक एस. सी. मिश्रा का कहना है कि राज्य के सीमावर्ती जिलों में रोमिंग चार्ज नहीं लगता है लेकिन अगर किसी उपभोक्ता की शिकायत है तो उसकी जांच कराई जाएगी। हाल में रामगढ़ में आयोजित राजद के चिंतन शिविर में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों का आरोप है कि वहां से भी मोबाइल पर फोन करने पर रोमिंग चार्ज लग रहा था जो अनुचित है।उपभोक्ताओं का कहना है कि रामगढ़ उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित है फिर भी वहां रोमिंग चार्ज लग रहा है। यही नहीं वहां उपभोक्ताओं को एसटीडी का भी चार्ज लगता है। हालांकि उत्तर प्रदेश के क्षेत्र में जाने पर ही एसटीडी व रोमिंग चार्ज लगना चाहिए।इसी तरह उत्तरी बिहार के सीमावर्ती जिलों में जाने पर भी एसटीडी व रोमिंग का चार्ज लग रहा है। इधर मैजिक वाउचर को लेकर भी उपभोक्ताओं में अभी भी खासी नाराजगी है। उपभोक्ताओं का कहना है कि बार-बार शिकायत दर्ज कराने के बाद बीएसएनएल के कान में जूं तक नहीं रंग रही है। मैजिक वाउचर स्कीम में रात 11 बजे से सुबह 7 बजे तक बीएसएनएल से बीएसएनएल मोबाइल पर मुफ्त बातचीत का प्रावधान है लेकिन रात साढ़े ग्यारह बजे के बाद भी पैसे कटते हैं। बीएसएनएल के पदाधिकारी चार महीनें से सिर्फ कोलकाता सिस्टम का बहाना बना रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सीमावर्ती जिलों में लग रहा रोमिंग चार्ज