DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टेट टॉपर उत्तम की पढ़ाई का नमिता ने लिया जिम्मा

इंटर विज्ञान के स्टेट टॉपर उत्तम कुमार को आगे पढ़ने के लिए अब सशंकित होने की जरूरत नहीं है। उसकी गरीबी कहीं से आड़े नहीं आयेगी। वह जितनी चाहे आगे पढ़ाई करेगा और उसे पढ़ने में नमिता भारद्वाज मदद करंगी।ड्ढr नमिता हैं तो साधारण महिला, लेकिन कुछ उम्दा सोच रखनेवालीं एक असाधारण शख्सियत हैं। वह न तो धनाढय़ हैं, न ही कोई उच्चपदस्थ अधिकारी। झारखंड शिक्षा परियोजना में काम करनेवाली एक रिसोर्स पर्सन हैं। पढ़ने-लिखनेवाले उनके अपने भी दो बच्चे हैं। वह अपने एक रिश्तेदार के बच्चे की भी पढ़ाई का खर्च उठा रहीं हैं। अपने लिए तो सभी करते हैं, कभी दूसरों के लिए अच्छा करके देखिये, कैसी आनंद अनुभूति होती है- नमिता की यह सोच और इच्छा शक्ित उन्हें कुछ हटकर अलग करने को प्रेरित करती है। दैनिक हिन्दुस्तान में उत्तम की खबर को नमिता ने पूरी संजीदगी से लिया और उसी समय ठान लिया कि चाहे उन्हें कोई कष्ट हो उत्तम की पढ़ाई में कसर नहीं छोड़ेंगी। मूलरूप से पटना की रहनेवाली नमिता पढ़ाई-लिखाई से ही तालुक्कात नहीं रखतीं, वह अच्छी काटरूनिस्ट भी हैं। अपनी इस कला के लिए वह अटलजी के हाथों सम्मानित भी हो चुकी हैं। अपनी जिम्मेदारी से तो आदमी परशान रहता है, फिर एक और बच्चे की पढ़ाई का बोझ कैसे उठायेंगी, पूछने पर नमिता कहती हैं- कठिन काम करने में ही सच्चा आनंद है। उत्तम की पढ़ाई के खर्च के लिए थोड़ा और परिश्रम करना होगा। ट्यूशन कर लूंगी। मेरा वेतन कम है। इसी में गुजारा करना होगा, लेकिन थोड़े बहुत जो पैसे बचाती हूं उसका सदुपयोग किसी बच्चे की तालिम में हो तो इससे बड़ी खुशी क्या होगी? आराम की जिंदगी बसर नहीं करंगे बस। अनावश्यक खर्च हैं नहीं, इसलिए कोई असुविधा नहीं होगी। नमिता अपने पिता को प्रेरणा स्त्रोत मानती हैं। पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम से अपने जीवन में सबसे अधिक प्रभावित हैं। एकसाथ इतनी जिम्मेदारियों के निर्वहन के बाद भी उत्तम को पढ़ाई में मदद की सोच उनके बुलंद हौसले को ही दर्शाता है। नमिता जसी शख्सियत सामनें आयेंगी तो किसी उत्तम को पढ़ने के लिए सोचना नहीं होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्टेट टॉपर उत्तम की पढ़ाई का नमिता ने लिया जिम्मा