DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाू के तीन घड़ियाल और एक मगरमच्छ बहे

टाटा के चिड़ियाघर में बाढ़ का पानी घुस जाने के कारण तीन घड़ियाल और एक मगरमच्छ पानी में बह गया है। मंगलवार की रात एक बजे स्वर्णरखा नदी का पानी चिड़ियाघर में प्रवेश कर गया। प्रबंधन को इतना मौका नहीं मिला कि घड़ियाल, मगरमच्छ और तेंदुवा को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया जा सके। बाढ़ का पानी इतनी तेजी से प्रवेश किया कि उसमें चार घड़ियाल और एक मगरमच्छ बह गये। बहुत खोजबीन के बाद एक घड़ियाल पकड़ में आया। बाकी तीन घड़ियाल का अभीतक कोई अता- पता नहीं है। बुधवार की दोपहर मगरमच्छ को चिड़ियाघर परिसर में बाढ़ के पानी के ऊपर तैरते हुए देखा गया। दूसरी ओर तेंदुआ के बाड़ में बाढ़ का पानी दो फीट के करीब घुस गया है। चिड़ियाघर के कर्मचारियों ने एक तेंदुवा को किसी तरह पकड़कर बाढ़ के पानी से सुरक्षित निकालकर पशु चिकित्सालय में रखा है, मगर दो तेंदुआ अभी भी बाढ़ के पानी में फंसा है। समझा जाता है कि दोनों तेंदुआ जान बचाने के लिए पिंजर के अंदर बने ऊंचे मचान पर चढ़ गये हैं। कल रात से बाढ़ में फंसे दोनों तेंदुआ ने कुछ भी खाना नहीं खाया है। चिड़ियाघर के निदेशक एमएस जन को उम्मीद है कि बाढ़ के पानी में बह गये तीन घड़ियाल और एक मगरमच्छ मिल जायेंगे। उन्होंने बताया कि पूर मामले पर नजर रखी जा रही है। बाकी पशु-पक्षी सुरक्षित हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चाू के तीन घड़ियाल और एक मगरमच्छ बहे