अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरुषि हत्याकांड के बाद खौफजदा हैं बच्चे

बहुचर्चित आरुषि हत्याकांड के बाद से स्कूली बच्चे दहशत मंे हैं। जहां वे अपने घरेलू नौकरों से सहमे हुए हैं, वहीं कई अपने अभिभावकों से भी डरे हुए हैं। इसी के मद्देनजर कई स्कूलों ने बच्चों के लिए कॉउंसिलिंग शुरू करने की योजना बनाई है। गर्मी की छुट्टियां अब समाप्त होने वाली हैं और विभिन्न स्कूलों में इस घटना के बाद बच्चों के लिए कई कार्यक्रम शुरू करने की योजना बनाई जा रही है। दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) नोएडा, जहां आरुषि पढ़ा करती थी, वहां बच्चों के लिए कॉउंसिलिंग सत्रों के अलावा प्रार्थना सभा करने की योजना है। डीपीएस नोएडा की प्रधानाचार्या नीना सहगल ने बताया, ‘‘स्कूल खुलने के बाद हम बच्चों के बातचीत करने के अलावा प्रार्थना सभाएं भी आयोजित करेंगे। हमारे पास परामर्शदाताओं की टीम है और हम इस स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।’’ मनोचिकित्सक अरुणा ब्रूटा ने कहा कि आरुषि हत्याकांड के बाद से सचमुच बच्चे सहमे हुए हैं। ब्रूटा ने कहा,‘‘कई बच्चों ने मुझे बताया कि वे अपने अभिभावकों के साथ सोना भी नहंी चाहते हैं। जिन बच्चों को अभिभावकों से समस्या नहंी है, उन्हें घरेलू नौकरों खासकर पुरुष नौकरों से भय बना हुआ है। ’’ डीपीएस नोएडा के अलावा कई अन्य स्कूलों के बच्चे भी डरे हुए हैं। कई स्कूलों ने स्वीकार किया है कि बच्चों को भावनात्मक सहायता मुहैया कराने की आवश्यकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आरुषि हत्याकांड के बाद खौफजदा हैं बच्चे