DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोडवेचा राष्ट्रीय राचाधानी क्षेत्र में समान कर वसूलेगा

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आने वाले रायों में परिवहन निगम सामान्य कर व्यवस्था लागू करगा। ये कर प्रणाली दिल्ली, यूपी, हरियाणा और राजस्थान में एक साथ लागू की जाएगी। विभाग के उच्च स्तरीय सूत्रों का कहना है कि नई कर प्रणाली से उत्तर प्रदेश के परिवहन विभाग को काफी लाभ होगा।ड्ढr केन्द्रीय परिवहन विभाग ने पिछले दिनों इन चारों रायों के परिवहन विभाग के आला अफसरों के साथ बैठक की। बैठक का अहम मुद्दा परिवहन विभाग के करों में समानता लाना था। विभागीय अधिकारियों का कहना था कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के कुछ रायों में टैक्स कम हैं जबकि कुछ रायों में टैक्स की दरं यादा हैं। करों में असमानता होने के कारण ट्रांसपोर्ट आपरटर्स से लेकर निजी वाहन मालिक बड़े स्तर पर कर चोरी कर रहे हैं। विभागीय अधिकारियों ने कहा उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में चौपहिया वाहन हरियाणा व अन्य रायों से पंजीकृत होकर आ रहे हैं जिसके कारण राय के राजस्व में काफी कमी आ रही है। इसी प्रकार प्राइवेट बस, ट्रक व टैक्सी आपरटर दूसर रायों से पंजीकरण कराकर रोड टैक्स, पैसेंजर टैक्स का पंजीकरण करा लेते हैं। इससे परिवहन विभाग को काफी क्षति हो रही है।ड्ढr केन्द्रीय परिवहन विभाग ने इस बात पर सहमति जताई कि राजधानी क्षेत्र के जिलों में एक समान ट्रांसपोर्ट टैक्स व्यवस्था लागू की जानी चाहिए। बैठक में इन चारों रायों से ‘कर’ का प्रारूप बनाने को कहा गया है। अगले महीने इस सम्बन्ध में फिर से बैठक बुलाई गई है।ड्ढr नई कर व्यवस्था लागू होने के बाद यूपी के मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बिजनौर, हापुड़ और सहारनपुरोिले प्रभावित होंगे। सरकार को नई कर प्रणाली के बार में उस समय गंभीरता से सोचना पड़ गया जब पिछले दिनों यूपी सरकार ने टैक्सी, बसों का दिल्ली और यूपी में बेरोक टोक के संचालन की व्यवस्था शुरू कराई। इससे कर चोरी में सबसे यादा प्रभाव दिल्ली के परिवहन विभाग को पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोडवेचा राष्ट्रीय राचाधानी क्षेत्र में समान कर वसूलेगा