DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसी-बिक्रमगंज ट्रेन में डाका

बिक्रमगंज-सासाराम रलखंड के नोखा व संझौली सीमा से सटे रामनगर के पास सशस्त्र अपराधियों ने वाराणसी-बिक्रमगंज पैसेंजर में जमकर लूटपाट की। अपराधियों ने इस ट्रेन में यात्रा कर रहे बीसीसीएल के एक कर्मचारी की गोली मार कर हत्या भी कर दी और कई बोगियों में सवार लगभग पांच दर्जन यात्रियों से लाखों रुपये लूट लिये। इस दौरान यात्रियों से मारपीट भी की गई। सासाराम से लगभग 12 बजे रात्रि में ट्रेन खुलने के बाद जसे ही खराडीह हाल्ट पर पहुंची 10-12 सशस्त्र अपराधी सवार हो गये। 20-25 की उम्र वाले अपराधियों ने चेहर को गमछे से ढंक रखा था। लुटेरों ने हवा में गोलियां भी चलाईं।ड्ढr ड्ढr बीसीसीएल धनबाद में कार्यरत नासरीगंज के मंगराव निवासी खोभारी तिवारी के 50 वर्षीय पुत्र उमेश कुमार तिवारी ने जेब में रखे सार रुपए दे दिए, लेकिन तलाशी के क्रम में अपराधियों को भीतर के पाकेट से पांच हाार रुपए हाथ लग गये। इसी गुस्से में आकर अपराधियों ने गोली मार दी। पुत्र अजीत कुमार का बीसीए में नामांकन के सिलसिले में ग्वालियर से लौट रहे तिवारी जख्मी अवस्था में ट्रेन में तड़पते रहे। इसी बीच बिक्रमगंज के व्यवसायी अजीत कुमार से 2 हाार रुपए, घड़ी तथा मोबाइल, बनारस से परीक्षा देकर लौट रहे धीरा कुमार से 1200 रुपए, घड़ी, टिकट के साथ-साथ अपराधियों ने लगभग दर्जन भर यात्रियों से लूटपाट की। लूटपाट के बाद सभी अपराधी सुसाड़ी समहुता हाल्ट पर उतर गये। कई यात्रियों को संझौली में उतरना पड़ा। ट्रेन के बिक्रमगंज पहुंचते ही जख्मी कर्मचारी को अस्पताल लाया गया जहां इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वाराणसी-बिक्रमगंज ट्रेन में डाका