अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएमसीएच के जूनियर डाक्टरों का निलंबन रद्द

पटना मेडिकल कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डा.सी.बी.चौधरी ने पत्रकारों व मरीज के परिजनों से मारपीट मामले में आरोपित कॉलेज के 10 जूनियर डॉक्टरों का निलम्बन रद्द कर दिया। उधर पटना हाईकोर्ट ने भी जूनियर डाक्टरों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई पर रोक लगा दी है।ड्ढr ड्ढr गुरुवार को न्यायाधीश शिवकीर्ति सिंह की एकलपीठ ने डा. शंकरदेव आचार्य एवं अन्य की ओर से दायर अग्रिम जमानत अर्जी पर सुनवाई के बाद केस डायरी की मांग की है साथ ही अभियुक्त जूनियर डाक्टरों के खिलाफ किसी प्रकार की कानूनी कार्रवाई पर रोक लगा दी है। एक अन्य मामले में अवकाशकालीन न्यायाधीश न्यायमूर्ति शैलेश कुमार सिन्हा की एकलपीठ ने डा. मो. अजहर हसन समेत तीन जूनियर डाक्टरों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई पर रोक लगाते हुए केस डायरी की मांग की है। उधर पटना सिविल कोर्ट में दायर अग्रिम जमानत अर्जी पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने हाईकोर्ट के आदेश की प्रतीक्षा में सुनवाई की अगली तारीख 21 जुलाई तय की है। पीएमसीएच प्रशासन ने जांच कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर सभी छात्रों का निलम्बन वापस ले लिया है जिन्हें 10 दिन पूर्व निलंम्बित कर दिया था। पीएमसी के प्राचार्य ने गुरुवार को आदेश जारी करते हुए डा.अनिल कुमार, डा.शंकर देव आचार्या, डा.अरुण कुमार दास, डा.विनोद कुमार पासवान, डा.संजीत कुमार अग्रवाल , डा.कुमार आनंद , डा.मो.अनायतुल्लाह , डा.अभय रंजन , डा.मो.अजहर हसन और डा.संजय कुमार (एमडी औषधि) को अभयदान कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीएमसीएच के जूनियर डाक्टरों का निलंबन रद्द