DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भंड़ैंती के चैनल

प्रियरांन दास मुंशी का बच्चों के रियलिटी शो के बहाने टीवी के खबरिया चैनलों पर (नकली) गुस्सा ठीक नहीं। अगर इस देश में अखबार न हों तो हिन्दी के दर्शकोंपाठकों को देश-दुनिया की जानकारी ही न हो। लोगों को पता ही न चले कि महंगाई कम करने का नाटक कर रपो-रट बढ़ाकर होम-लोन सहित सभी करो पर ब्याज दर बढ़ाने वाली सरकार की वास्तविक मंशा क्या है।..लोग तो भूखे पेट राजू के हसगुल्ले और ‘स्वर्ग की सीढ़ी’ ही देखते रह जाते। उन्हें पता ही नहीं चल पाता इन ‘भंड़ैंती वाले चैनलों’ के जाल से बाहर कैसे निकला जाए। माननीय सूचना व प्रसारण मंत्री मुंशी जी आप ने ही तो अपने व्यक्ितत्व के प्रभाव से या खौफ से टीवी के सभी हिन्दी खबरिया चैनलों को गंभीर खबर देने की जगह बच्चों का मन बहलाने वाला, कहानियां सुनाने वाला व हंसी-चुटकुले दिखाने वाला एक यंत्र-मात्र बन जाने दिया।ड्ढr सुरन्द्र त्रिपाठी, 442, सेक्टर-4, आर.के. पुरम, नई दिल्ली मैथिली-भोजपुरी अकादमी के लिए दिल्ली सरकार की मैथिली-भोजपुरी अकादमी के लिए सचिव पद हेतु डेपुटेशन पर मांगे गए विभिन्न समाचार पत्रों में विज्ञापन में अनिवार्य योग्यता केवल मैथिली भाषा में एम.ए. मांगी गई है। न तो भोजपुरी में एम.एम. मांगा गया है, न हिन्दी में। भोजपुरी की अब तक स्थिति आठवीं अनुसूची द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है। भोजपुरी की कविताएं, साहित्य, यहां तक कि मैथिली के महत्वपूर्ण रचनाकार हिन्दी साहित्य के एमए में पढ़ाए जाते रहे हैं। चूंकि भोजपुरी में एमए का अब तक यूजीसी द्वारा ठीक से प्रावधान नहीं है, इसलिए भोजपुरी भाषा-भाषियों के लिए अनिवार्य योग्यता में हिन्दी साहित्य में एमए विकल्प तुरंत अखबारों में संशोधन देते हुए जारी करना चाहिए।ड्ढr बी. एन. प्रसाद सनेहिया, नई दिल्ली शुभ लक्षण नहीं बढ़ती महंगाई, बेमौसम मानसून का पहले आना बाजार में दालें, तेल, आटा और रोमर्रा की चीजों का बेतहाशा बढ़ना यह सब सरकार के लिए शुभ लक्षण नहीं है।ड्ढr रामरत्न खन्ना, चांदनीचौक, दिल्ली निर्देशों का उपहास दिल्ली की मतदाता सूची बनाने का काम पूर जोरशोर से चल रहा है। इस काम के लिए तमिलनाडु की कम्पनी को ठेका दिया गया है। फोटो पहचान पत्र बनाने के लिए सरकार द्वारा कभी घर-घर आने की बात की जाती है तो कभी फोटो लेकर आने की बात होती है। एसा कैसे चलेगा।ड्ढr वीना रानी, दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्लीं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भंड़ैंती के चैनल