अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

हम तो डूबे सनम..हम तो डूबे सनम, तुमको भी ले डूबेंगे। कुछ ऐसी ही बातें कर रहे हैं देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी के प्रदेश सुप्रीमो। रो दिल्ली की दौड़ लगा रहे हैं। अभियो दिल्लिये में हैं। प्रभारी महोदय का इंतजार कर रहे हैं, जो विदेश गये हुए हैं। उनसे कहेंगे कि हम तो डूबिये गये, सूबे के मुखिया महोदय को काहे छोड़ दिये हैं। ऊपर लेबल में बात करके कुछ फाइनल कीािये। झारखंड में सब पूछता है- क्या हुआ तेरा वादा। केतना अच्छा था। हमलोग सरकार में सीधे शामिल नई थे, लेकिन मिल बांटकर खा रहे थे। जिस अधिकारी का चाहते थे, ट्रांसफर-पोस्टिंग करा लेते थे। कुछ हाथ भी गरम हो जाता था। दिल्ली वालों को यह नहीं सोहाया। तुरंत मक्खन साब को भेज दिया। ऊ सरकार को मक्खन लगाने की बजाय पलीता लगा दिये। दू-तीन महीना तो खूब वाहवाही हुई। अब किरकिरी हो रही है। ऊपर में बैठे लोग तमाशबीन बने हुए हैं। अर खिचखिच तो हींया के लोग को झेलना पड़ता है। जब समर्थन जारिये रखना था, तो हल्ला काहे किये। अंदर में कुछ और बाहर में कुछ बोलने से फाीहत हो रही है। एगो पूर्व मुखिया महोदय दल-बल लेके कल बड़का हाकिम के पास चले गये थे। कह दिया कि बाहर में सब विरोध कर रहा है, तो अंदर में पावर की जांच करा लें। ऊ कह रहे थे कि सरकार का पावर खतम हो गया है। वास्तव में हम तो डूबे हैं, अब इंतजार है, सनम कब डूबेंगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग