DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजलीघर पर डाला ताला, धरने पर बैठे ग्रामीण

हाथरस। बिजली संकट की समस्या कम होने का नाम नहीं ले रही है। जंक्शन क्षेत्र के गांव लाखनू में तीन महीने से अंधेरा है। गांव का ट्रांसफार्मर फुंका हुआ पड़ा है। मगर मंगलवार को लोगों के सब्र का बांध टूट गया और बिजली घर पर ताला डाल दिया।

जमकर हंगामा किया। अधिकारियों के खिलाफ खूब नारेबाजी और बिजली घर के बाहर धरने पर बैठ गए। वैसे तो पूरा जिला ही बिजली संकट की चपेट में है। खूब ताबड़तोड़ कटौती हो रही है। इसे लेकर उपभोक्ताओं में भारी आक्रोश व्याप्त है। मगर बिजली विभाग का इस ओर कतई ध्यान नहीं है। इसी बजय से लाखनू के लोगों को तीन महीने से बिजली नहीं मिल रही है। इन तीन महीनों में बिजली न होने का बदमाशों ने पूरा फायदा उठाया है।

कई बार गांव में चोरी की वारदात हो चुकी है। लोग शाम होते ही घरों में जाकर सो जाते है। बिजली न होने के कारण पूरा जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। इसलिए मंगलवार को गांव के सभी लोग एकजुट होकर 33 केवी के बिजली घर पर आ गए। यहां तैनात बिजलीकर्मी से सभी फीडरों की आपूर्ति को बंद करा दिया। ग्रामीणों का कहना था कि अगर उनके गांव के बिजली नहीं मिल रही है तो फिर किसी को बिजली नहीं दी जाएगी।

लिहाजा ग्रामीणों ने बिजली घर पर ताला लगा दिया और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों ने ऐलान किया कि जब तक उनकी समस्या का स्थाई समाधान नहीं हो जाता है तब तक इसी तरह से आन्दोलन होता रहेगा। ग्रामीणों का कहना है कि सोमवार को गांव में एक ट्रांसफार्मर लगाया गया था,लेकिन लोड अधिक होने के कारण ट्रांसफार्मर फुंक गया।

फिलहाल धरने पर डॉ संजय पचौरी, गिरीश उपाध्याय, चेतन्य स्वरुप, पन्ना लाल, ब्रज मोहन दीक्षित, बनवारी लाल,रामेश्वर दयाल गुप्ता, हरिश्चंद अग्निहोत्री, संतोष, पिन्टू पचौरी, राम्रप्रकाश, बिजेन्द्र कुमार, विष्णु दत्त, राकेश दीक्षित, भगवान दास गुप्ता, दीना जाटव, पवन गुप्ता आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजलीघर पर डाला ताला, धरने पर बैठे ग्रामीण