DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया पर ग्रहण

रांची। प्रशांत झा। राज्य में उच्च प्राथमिक शिक्षक (कक्षा 5 से 8) नियुक्ति का मामला अटक रहा है। शिक्षा विभाग में अधिकारियों की कमी से 15 फरवरी से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने पर ग्रहण लग गया है। इस मामले में शिक्षा मंत्री गीताश्री उरांव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने विभाग में अधिकारियों की कमी का जिक्र किया है और जल्द अधिकारी नियुक्त करने का आग्रह किया है।

प्राथमिक शिक्षा निदेशक छुट्टी पर : प्राथमिक शिक्षा निदेशक ममता लंबे समय से छुट्टी पर हैं। वह कब तक छुट्टी पर रहेंगी, इस बारे में विभाग के अन्य अधिकारियों को जानकारी नहीं है। यहां तक कि विभागीय मंत्री गीताश्री उरांव को भी इसकी कोई जानकारी नहीं है। इस वजह से प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति व अन्य संबंधित कार्य अटक गए हैं।

माध्यमिक शिक्षा निदेशक का तबादला: माध्यमिक शिक्षा निदेशक ए हक का गत महीने तबादला हुआ था। उन्हें दुमका का आयुक्त बनाया गया है। हक को 31 जनवरी तक दुमका आयुक्त का पद संभालना था। वह निदेशक का स्वत: पद छोड़ते हुए, 10 दिन पहले दुमका आयुक्त का पद भार ग्रहण कर लिया। पद खाली रहने के कारण कई तरह की समस्याएं आ रही हैं।

सर्व शिक्षा अभियान निदेशक पद खाली: सर्व शिक्षा अभियान और झारखंड माध्यमिक शिक्षा परियोजना के निदेशक का पद भी खाली पड़ा हुआ है। इस पद पर भी प्राथमिक शिक्षा निदेशक ममता ही थीं। उनके नहीं रहने के कारण सर्व शिक्षा अभियान से जुड़े कई कार्य अटक गए हैं। क्या-क्या मामला अटका:शिक्षा विभाग में निदेशालय की अहम भूमिका है। प्राथमिक और मध्यमिक शिक्षा के सारे कार्य निदेशालय के जरिए ही होते हैं।

प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति (कक्षा 1-5) की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है। इसे पूरा करने के लिए निदेशक का होना आवश्यक है। टैट पास विद्यार्थियों के लिए उच्च प्राथमिक शिक्षकों (कक्षा 6-8) की नियुक्ति प्रक्रिया 15 फरवरी से शुरू करने की घोषणा की गई थी। फिलहाल यह मामला लटक गया है। निदेशक के नहीं रहने के कारण मामला अटक गया है। इसी तरह स्कूल भवनों, शौचालय, चाहरदविारी, बालिकाओं के लिए हॉस्टल निर्माण, मिड-डे मील से संबंधित कार्य समेत कई मामले अधर में लटके हुए हैं।

‘प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने मुझे छुट्टी की कोई सूचना नहीं दी है। निदेशक प्राथमिक व माध्यमिक और सर्व शिक्षा अभियान निदेशक पद रिक्त रहने के कारण योजनाओं को अमलीजामा पहनाने में समस्याएं आ रही है। शिक्षक नियुक्ति समेत कई मामले अटक गए हैं। बजट राशि खर्च करने और नए बजट की तैयारी में भी परेशानी आ रही है। इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा गया है। उन्हें 3-4 अधिकारियों के नाम का सुझाव देते हुए तत्काल नियुक्त करने का आग्रह किया गया है। ’- गीताश्री उरांव, शिक्षा मंत्री।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया पर ग्रहण