DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों में ठप रहा कामकाज, छह अरब का लेनदेन प्रभावित

भागलपुर, कार्यालय संवाददाता। बैंकों की हड़ताल से लगातार दूसरे दिन भी कामकाज पूरी तरह ठप रहा। इस दौरान प्राइवेट बैंक सहित सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों के एटीएम भी बंद रहे।

इस कारण ग्राहकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। पिछले दो दिनों में हड़ताल से बैंकों में लगभग 600 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ। सबसे बड़ी चुनौती अब बुधवार के लिए है। दो दिन हड़ताल के बाद बुधवार को बैंक खुलेंगे और काफी भीड़ होगी।

एटीएम में पिछले चार दिनों से कैश लोड नहीं किया गया है। ऐसे में सभी एटीएम से दोपहर बाद ही पैसों की निकासी हो सकेगी। मंगलवार सुबह भी हड़ताली कर्मचारी विभिन्न जगहों पर बंदी के समर्थन में धरना प्रदर्शन करते रहे।

सोमवार शाम को एचडीएफसी बैंक के एटीएम को खोल दिया गया था लेकिन हड़ताली कर्मचारियों के डर से मंगलवार सुबह ही इसे बंद कर दिया गया। आईसीआईसीआई और एक्सिस बैंक के सामने और एचडीएफसी बैंक के सामने पूरे दिन बरामदे पर बैंककर्मी डेरा जमाए रहे।

कर्मचारियों का कहना था कि हड़ताल में भले ही प्राइवेट बैंक शामिल न हो लेकिन किसी भी तरह की बैंकिंग सेवा को इन दो दिनों में नहीं चलने दिया गया है। प्रावइेट बैंकों की शाखाओं और एटीएम को नहीं खुलने दिया गया।

कर्मचारियों ने दावा किया है कि हड़ताल के दौरान न सिर्फ शहरी बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों की भी सभी शाखाएं बंद रहीं। बैंक से रुपयों का लेन-देन पूरी तरह से बंद रखा गया। दो दिनों की बंदी के बाद भी हड़ताली कर्मचारियों के तेवर कम नहीं हुए हैं। यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन के नेताओं ने कहा है कि अगर इस हड़ताल के बाद भी सरकार उनकी मांगों पर गंभीरता पूर्वक ध्यान नहीं देगी तो आगे अनशि्चितकालीन हड़ताल की योजना बनायी जाएगी।

हड़ताल के कारण लोगों की परेशानी और बैंकों को होने वाले नुकसान के लिए सरकार जिम्मेदार होगी। उधर, हड़ताल के कारण आम नागरिकों और कारोबारियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। अधिकांश बैंकों के एटीएम में रविवार शाम तक कैश खत्म हो चुके थे।

बुधवार सुबह से कैश लोडिंग शुरू भी होती है तो कम से कम दोपहर बाद एटीएम से रुपये की निकासी हो पाएगी। लगभग साढ़े तीन दिन की बंदी के बाद जब हर बैंक की शाखाएं खोली जाएगी तो चेक क्लीयरेंस, रुपये जमा करने वाले, ड्राफ्ट बनाने वाले, रुपयों की निकासी करने वाले सहित बैंक के अन्य कामों के लिए ग्राहकों की काफी भीड़ होने की संभावना है।

किसी भी बैंक में इसके लिए कोई अतिरिक्त तैयारी नहीं की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंकों में ठप रहा कामकाज, छह अरब का लेनदेन प्रभावित