DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निजीकरण के विरोध में विद्युत कर्मियों ने बनायी रणनीति

मऊ। निज संवाददाता। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वावधान में जिला इकाई की बैठक मंगलवार को सहादतपुरा स्थित शविमंदिर पर समिति के संयोजक सूर्यदेव पाण्डेय की अध्यक्षता में हुई। बैठक में बिजलीकर्मियों ने निजीकरण के विरोध में रणनीति बनाई।

बैठक में संयुक्त संघर्ष समिति उत्तर प्रदेश के केन्द्रीय नेतृत्व के आह्वान पर चार महानगरों वाराणसी, मेरठ, गाजियाबाद, कानपुर आदि के निजीकरण के निर्णय के साथ-साथ समस्त प्रकार के निजीकरण के निर्णय को वापस लेने एवं अन्य समस्याओं का समाधान शीर्ष ऊर्जा निगम प्रबंधन एवं प्रदेश शासन द्वारा नहीं किये जाने के विरोध में 17, 18 फरवरी को प्रस्तावित कार्य बहिष्कार एवं 19 फरवरी को 24 घंटे की पूर्ण हड़ताल को सफल बनाने पर व्यापक विचार विमर्श किया गया।

बैठक में वक्ताओं ने मांग की कि तत्काल समस्त प्रकार के निजीकरण के निर्णय को वापस लिया जाय। अन्यथा संयुक्त संघर्ष समिति के केन्द्रीय आह्वान पर पूरे प्रदेश के साथ-साथ जनपद मऊ के बिजली उद्योग में कार्यरत कर्मचारी 17, 18 फरवरी को कार्य बहिष्कार करेंगे वहीं 19 फरवरी को 24 घंटे की पूर्ण हड़ताल पर रहेंगे।

जिसमें सम्पूर्ण औद्योगिक अशांति एवं निगमीय कार्य व्यवधान की जिम्मेदारी शासन एवं प्रबंधन की होगी। बैठक में संदीप तिवारी, सूर्यदेव पाण्डेय, राधेश्याम, सुधीर कुमार, राजनरायन सिंह, शेषनाथ सिंह, पीके सिंह, पतिराम, प्रभु नारायण पाण्डेय, मनोज सिंह, मिथिलेश यादव, डीबी सिंह, राधेश्याम मौर्या, स्वामीनाथ, रघुनंदन यादव, ओमप्रकाश, संतोष सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निजीकरण के विरोध में विद्युत कर्मियों ने बनायी रणनीति