DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गढ़वाल विवि में शिक्षकों के 161 पद खाली

देहरादून। कार्यालय संवाददाता। केंद्रीय विवि बनने के बावजूद गढ़वाल विवि में शिक्षकों की किल्लत कम नहीं हुई है। यूजीसी की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक यहां शिक्षकों के एक तिहाई से ज्यादा पद खाली चल रहे हैं। विवि में कुल मिलाकर शिक्षकों के 161 पद रिक्त हैं। गढ़वाल विवि के केंद्रीय विवि बनने के बाद यह उम्मीद की गयी थी कि अब यहां सुविधाओं की कोई कमी नहीं रहेगी। तब आमतौर पर यह माना गया था कि कम से कम शिक्षक छात्र अनुपात सही रहेगा और छात्रों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिल सकेगी।

लेकिन यूजीसी की एक हालिया रिपोर्ट इस मामले में निराशाजनक तस्वीर पेश कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक गढ़वाल विवि में कुल 468 पद स्वीकृत हैं। इनमे से 43 पर प्रोफेसर के हैं, जिनमें से अभी 26 खाली हैं। एसोसिएट प्रोफेसर पदों की संख्या 84 है लेकिन इनमें से 46 रिक्त चल रहे हैं। सबसे ज्यादा वेकेंसी असिस्टेंट प्रोफेसर पदों की है। विवि में कुल स्वीकृत पदों की संख्या 341 है लेकिन इनमें से 89 अभी खाली हैं। कुल मिलाकर विवि में 161 पद रिक्त हैं जो स्वीकृतों पदों का एक तिहाई हिस्सा है।

यूजीसी ने देश के केंद्रीय विवि के बारे में यह रिपोर्ट जारी कर वहां शिक्षकों की कमी की समस्या को उजागर किया है। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि इन पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया कब शुरू होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गढ़वाल विवि में शिक्षकों के 161 पद खाली