DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी रैली के समानांतर राजद रैली की घोषणा

मोदी रैली के समानांतर राजद रैली की घोषणा

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के समानांतर उसी मैदान में राजद के रैली आयोजन की मांग पर भाजपा ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पर राजनीतिक लाभ हासिल करने के लिए विवाद उत्पन्न करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि दोनों दलों की रैली के आयोजन पर भाजपा के प्रधानमंत्री उम्मीदवार के समक्ष लालू बौने साबित होंगे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी की रैली के लिए उनकी पार्टी ने मुजफ्फरपुर के तीन मैदानों दो एमआईटी परिसर और एक पुलिस लाइन मैदान के लिए जिला प्रशासन को उस समय आवेदन दिया था जब इन मैदानों के लिए किसी अन्य पार्टी द्वारा आवेदन नहीं दिया गया था।

उन्होंने कहा कि अब लालू प्रसाद की पार्टी राजद विवाद उत्पन्न करने के लिए नरेंद्र मोदी की रैली के समानांतर रैली करने की घोषणा की है और उसके लिए राजद के जिला अध्यक्ष आवेदन देने जा रहे हैं।

सुशील ने कहा नियम के मुताबिक अनुमति उसे ही मिलती है जिसने पहले आवेदन दिया और वे इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि नीतीश कुमार का प्रशासन नियम का पालन करता है या फिर उनके साथ भेदभाव करते हुए राजद का पक्ष लेता है।

उन्होंने कहा कि अगर जिला प्रशासन नियम की अवहेलना करते हुए उक्त मैदान में राजद को समानांतर रैली आयोजित करने की अनुमति दे देता है तो हमें परेशानी नहीं होगी बल्कि यह लालू को नरेंद्र मोदी के सामने बौना साबित कर देगा और उन्हें अपनी औकात का पता चल जाएगा।

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि उनका सुझाव यह है कि उन तीनों मैदानों में किसी एक पर उसी दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी पार्टी की रैली आयोजित करें जो यह साबित कर देगा कि इन तीनों में कौन सबसे अधिक लोकप्रिय है और किसकी सभा में सबसे अधिक भीड़ जुटती है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 1990 में भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का रथ रोकने वाले लालू इस बार नरेंद्र मोदी को मात दें। सुशील ने मजाकिया लहजे में कहा कि उस समय लालू जवान थे और अब वे बूढे़ हो गए हैं और अब उनमें चुनौती स्वीकार करने की ताकत नहीं बची है।

उन्होंने केरल से लेकर कोलकाता तक भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली में भारी भीड़ जुटने का दावा करते हुए कहा कि लालू या नीतीश में शक्ति नहीं है कि वह नरेंद्र मोदी के अश्वमेध को रोक सके। वहीं, दूसरी तरफ राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा कि जब उन्होंने फोन पर परसों मुजजफ्फर जिला अधिकारी से बात की तो उन्होंने एमआईटी और पुलिस लाइन मैदान किसी को आवंटित नहीं किए जाने की बात कही थी।

लालू ने कहा कि उनकी पार्टी की रैली का आयोजन उसी दिन और उसी स्थल पर होगी और अब देखना है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने पुराने साथी (भाजपा) या उनकी पार्टी को अनमुति देते हैं।

उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से उक्त रैली के लिए तैयारी करने की अपील करते हुए कहा कि अब देखना यह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनका प्रशासन क्या निर्णय लेता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोदी रैली के समानांतर राजद रैली की घोषणा