DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरा प्रयास तीनों प्रारूपों को समान महत्व देना: श्रीनिवासन

मेरा प्रयास तीनों प्रारूपों को समान महत्व देना: श्रीनिवासन

बीसीसीआई अध्यक्ष और आईसीसी के भावी चेयरमैन एन श्रीनिवासन ने कहा कि अपने कार्यकाल के दौरान उनकी मुख्य प्राथमिकता क्रिकेट के तीनों प्रारूपों को समान रूप से महत्वपूर्ण बनाना होगी।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) बोर्ड ने पिछले शनिवार को ढांचागत और वित्तीय सुधार पारित किये जिससे भारत की शक्तियां बढ़ गई और श्रीनिवासन के लिये जुलाई से आईसीसी बोर्ड की अध्यक्षता करने का रास्ता भी साफ हो गया।

पारित प्रस्ताव के अनुसार जो नई कार्यकारी समिति गठित होगी उसे बोर्ड को रिपोर्ट करना होगा। इस कार्यकारी समिति के शुरूआती अध्यक्ष क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के वाली एडवडर्स होंगे जबकि ईसीबी के जाइल्स क्लार्क वित्त एवं व्यावसायिक कल्याण समिति के अध्यक्ष बने रहेंगे।

श्रीनिवासन ने कहा कि मेरे लिये तीनों प्रारूप समान रूप से महत्वपूर्ण है। हमारा प्रयास सभी तीनों प्रारूपों को समान रूप से आगे बढ़ाना है क्योंकि खेल के विकास के लिये यह जरूरी है। प्रस्ताव की कुछ प्रमुख विशेषताओं में खेल के पारंपरिक प्रारूप के बचाव के लिये टेस्ट क्रिकेट कोष का गठन करना, एसोसिएट सदस्यों को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका प्रदान करना, पूर्णकालिक सदस्यों के लिये नया वित्तीय ढांचा और प्रमुख एसोसिएट सदस्यों को अधिक सहयोग प्रदान करना हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेरा प्रयास तीनों प्रारूपों को समान महत्व देना: श्रीनिवासन