DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक हडताल: एटीएम खाली जनता परेशान

बैंकों की सोमवार से जारी दो दिवसीय हड़ताल की वजह से एटीएम मशीनों में जहां रुपये खत्म हो गये हैं वहीं उत्तर प्रदेश में इसने करीब 12 हजार करोड़ का लेनदेन प्रभावित किया और लगभग दो करोड़ चेकों की कलीयरिंग भी रूकी पडी है।

ज्यादातर एटीएम मशीनों से तेजी से निकाले गये रुपयों की वजह से पैसे खत्म हो गये हैं। बैंक के एक अधिकारी ने बताया कि मशीनों में पर्याप्त धन डाला गया हैं फिर भी मांग को देखते हुये धनराशि समाप्त हो सकते हैं। 

राष्ट्रीयकृत बैंको के सभी नौ यूनियनों के आह्वान पर कर्मचारी हड़ताल पर हैं। सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश में प्रतिदिन बैंकों के माध्यम से करीब छह हजार करोड़ रुपये का लेनदेन होता है। इस हडताल से 12 हजार करोड़ रुपये का व्यापार सीधे प्रभावित हुआ है लेकिन सन्तोष की बात है कि इसे घाटा नहीं कहा जा सकता कयोंकि बैंक खुलने पर यह कारोबार हो जायेगा। इस दौरान दो करोड़ चेकों की कलीयरिंग भी प्रभावित हुई । 

यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन्स के स्थानीय संयोजक एस के संगतानी के अनुसार बैंक कर्मियों की ड्यूटी के समय अचानक मृत्यु होने पर आश्रितों को नौकरी देने का कोई प्रावधान नहीं है जबकि दंगे मारे गये लोगों के आश्रितों को नौकरियां मानवीय आधार पर मिल जा रही है।

उन्होंने कहा कि वेतन विसंगतियां दूर करने के मूल मांग के साथही ड्यूटी पर मरने वाले बैंक कर्मी के आश्रितों को नौकरी देना भी मुख्य मांग में शामिल है। 

उन्होंने कहा कि पारिवारिक पेन्शन के नाम पर मात्र तीन हजार रुपये दी जाती है। इसे बढा़ने के लिए कई दिनों से संघर्ष चल रहा था लेकिन सरकार की हठवादिता की वजह से इसमें कोई परिवर्तन नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि दोनों दिन बैंक के ताले नहीं खुलें क्‍योंकि इस हड़ताल में अधिकारी, कर्मचारी सभी शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंक हडताल: एटीएम खाली जनता परेशान