DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दंगा मामलों में 300 से अधिक पर मामले दर्ज

मुजफ्फरनगर के फुगना गांव में गत वर्ष सितम्बर में हुए दंगों के दौरान सामूहिक बलात्कार के पांच मामलों के फरार आरोपियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई बाधित करने को लेकर 300 से अधिक लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किये गए हैं।

पुलिस ने बताया कि पथराव करने और पुलिस को कर्त्तव्य निर्वहन से बाधित करने के लिए तीन सौ से अधिक लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दो मामले दर्ज किये गए हैं।

पुलिस ने बताया कि इस मामले में पांच महिलाओं को नामित किया गया है जिसमें सुनीता, मीनू, शिमला, बबली और सुनीता शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि पुलिस को 30 और 31 जनवरी को नाराज ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा जब वे गांव में आरोपी के घरों पर कुर्की की कार्रवाई के लिए नोटिस चस्पा करने गए थे।

दंगों के दौरान 27 लोगों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार के मामले दर्ज किये गए थे जिसमें 22 लोग लिप्त पाये गए। वेदपाल नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि 21 अन्य फरार हो गए।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नरेंद्र कुमार ने गत महीने 21 भगोड़ों के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 83 के तहत कुर्की की कार्रवाई का आदेश दिया था। गत सितम्बर में मुजफ्फरनगर और आसपास के क्षेत्रों में हुए दंगों में 60 से अधिक लोग मारे गए थे और 50 हजार से अधिक विस्थापित हो गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दंगा मामलों में 300 से अधिक पर मामले दर्ज