DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीलामी में सहवाग, युवराज और पीटरसन पर होगी निगाहें

नीलामी में सहवाग, युवराज और पीटरसन पर होगी निगाहें

आईपीएल के सातवें संस्करण के लिये बुधवार को होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी में फ्रेंचाइजियों की निगाहें वीरेन्द्र सहवाग, धुरंधर युवराज सिंह और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट छोड़ चुके केविन पीटरसन पर लगी होगी।
 
सहवाग, युवराज, पीटरसन और करिश्माई आलराउंडर जैक कैलिस सहित 500 से ज्यादा खिलाडी़ 12 फरवरी को बेंगलूर में होने वाली आईपीएल 7 की नीलामी में उतरेंगे। हालांकि इस बार नीलामी की नयी प्रक्रिया के तहत फ्रेंचाइजियों ने मिले राइट टू मैच कार्ड के तहत अपने प्रमुख खिलाड़ियों को टीम में बरकरार रखा है जिससे नीलामी में रोमांच भले ही खत्म हो गया हो, लेकिन इससे क्रिकेट के कई बड़े चेहरों को नीलामी में अच्छी कीमत मिलने की उम्मीद भी बढ़ गई हैं।
 
नीलामी में जिन खिलाड़ियों पर फ्रेंचाइजियां प्रमुख रूप से अपना दांव लगायेगी उनमें पिछले काफी समय से टीम से बाहर चल रहे आलराउंडर युवराज और सहवाग प्रमुख माने जा रहे हैं। युवराज पिछले काफी समय से आईपीएल का चेहरा रहे हैं और इस बार भी उन्हें दो करोड़ रुपये का बेस प्राइस मिला है जो दिखाता है टीम से बाहर होने के बावजूद उनकी लोकप्रियता में कमी नहीं आई है।
 
युवी ने आईपीएल के आखिरी संस्करण में सहारा पुणे वारियर्स की ओर से खेला था जो अब लीग का हिस्सा नहीं है। जबकि वह किंग्स इलेवन पंजाब के लिये भी खेल चुके हें। आईपीएल में युवी का प्रदर्शन संतोषजनक रहा है और उन्होंने लीग में पांच अर्धशतक अपने नाम किये हैं। वर्ष 2008 से 2013 के बीच युवी ने अपनी 68 पारियों में 130 से अधिक स्ट्राइक रेट के साथ 1475 रन बनाये हैं।
   
माना जा रहा है कि युवराज को रायल चैलेंजर्स बेंगलूर भी अपनी टीम में शामिल करने में खास दिलचस्पी ले रही है। कहा जा रहा है कि आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने भी युवराज से बेंगलूर का हिस्सा बनने के लिये कहा है। इसके अलावा दिल्ली डेयरडेविल्स ने भी भारतीय आलराउंडर को अपनी ओर करने में रुचि दिखाई है।
  
आईपीएल में दिल्ली ने अपने किसी भी खिलाड़ी को बरकरार नहीं रखा है और पिछले संस्करणों में बेहद लचर प्रदर्शन के कारण शर्मिदगी झेल चुकी यह टीम युवराज जैसे अहम चेहरों को टीम में शामिल करने का प्रयास कर सकती है। इसके अलावा, दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी कर चुके सहवाग भले ही पिछले संस्करणों में अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके हों, लेकिन उन्हें भी इस बार अच्छी कीमत मिलने की उम्मीद है।
 
सहवाग पिछले काफी समय से टीम से बाहर चल रहे हैं और ऐसे में उनके पास आईपीएल में खुद को साबित करने का यह बेहतरीन मौका भी है। सहवाग को भी एक से डेढ़ करोड़ रुपये के बेस प्राइस की सूची में रखा गया है और उनके भारतीय टीम के साथ अनुभव, पिछले संस्करणों में टीम की कप्तानी के अनुभव का फायदा उन्हें नीलामी में मिल सकता है।
 
इसके अलावा आस्ट्रेलिया दौरे पर इंग्लैंड की हार के बाद बलि का बकरा बनाये गये के विन पीटरसन का अंतरराष्ट्रीय करियर अब समाप्त हो चुका है और ऐसे में पीटरसन पर भी कई फ्रेंचाइजियां नजरें लगा कर बैठी हैं। टीम से बाहर किये जाने के बाद खुद पीटरसन ने कहा था कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि आईपीएल नीलामी में उन्हें इस बार अच्छी कीमत मिल सकती है।
                 
इस बार नीलामी में आठ फ्रेंचाइजी टीमें 500 से ज्यादा कैप्ड और अनकैप्ड खिलाड़ियों पर अपना दाव लगाएंगी। नीलामी में 219 कैप्ड खिलाडी रखे गए हैं जिसमें 169 भारतीय और 50 विदेशी खिलाडी़ शामिल हैं, जबकि 292 अनकैप्ड खिलाड़ियों में 255 भारतीय और 37 विदेशी शामिल हैं।
 
इस नीलामी में 16 खिलाड़ियों को मार्की खिलाड़ियों की सूची में शामिल किया गया है। इन खिलाड़ियों की सबसे पहले नीलामी की जाएगी। इन खिलाड़ियों को आठ-आठ के दो ग्रुपों में बांटा गया है। इन खिलाड़ियों में सहवाग, युवराज, पीटरसन और कैलिस के अलावा श्रीलंका के माहेला जयवर्द्धने और आस्ट्रेलिया के मिशेल जानसन जैसे धुरंधर शामिल हैं।
 
इनके अतिरिकत मुरली विजय, डेविड वार्नर, जार्ज बैली, फाफ डूप्लेसिस, माइकल हसी, दिनेश कार्तिक, जहीर खान, व्रैंडन मैकुलम, अमित मिश्रा और डेरेन सैमी भी मार्की खिलाड़ियों में हैं। कुल 30 खिलाड़ियों को दो करोड़ रुपए के अधिकतम आधार मूल्य पर रखा गया है, जिनमें 11 भारतीय शामिल हैं।
       
नीलामी में अन्य शीर्ष खिलाड़ियों में रोबिन उथप्पा, यूसुफ पठान, व्रैड हैडिन, व्रैड हौज, स्टीवन स्मिथ, मिचेल स्टार्क, व्रैंडन मैकुलम, रोस टेलर और मालरेन सैम्युअल्स शामिल हैं। आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जेम्स पैटिनसन को दो करोड़ आधार मूल्य वाले खिलाड़ियों की सूची से हटा दिया गया है।
 
पहली बार यह नीलामी भारतीय मुद्रा में की जाएगी। मार्की ग्रुपोंके अलावा अन्य खिलाड़ियों को उनकी विशेषज्ञता के अनुसार अलग-अलग कैटगरी में बांटा गया है। माना जा रहा है कि अनकैप्ड खिलाड़ियों की नीलामी दूसरे दिन होगी। पहली बार अनकैप्ड खिलाड़ियों को नीलामी में रखा गया है।

इस साल हर टीम में खिलाड़ियों की संख्या घटाकर 27 कर दी गई है जिनमें अधिकतम नौ विदेशी खिलाडी़ हो सकते हैं। नीलामी को इंग्लैंड के प्रोफेशनल नीलामकर्ता रिचर्ड मेडले आयोजित करेंगे। मेडले 2008 में पहले सत्र के बाद से ही खिलाड़ियों की नीलामी आयोजित करते आ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नीलामी में सहवाग, युवराज और पीटरसन पर होगी निगाहें