DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेगेटिव मार्किंग से सावधान

नेगेटिव मार्किंग से सावधान

आवेदन की अं.ति.
07 अप्रैल 2014
प्रवेश परीक्षा की तिथि
26 अप्रैल 2014

नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटिरग टेक्नोलॉजी (एनसीएचएमसीटी) पर्यटन मंत्रालय से संबंधित एक स्वतंत्र संस्था है। यह संस्था तीन वर्षीय बैचलर कोर्स बीएससी इन हॉस्पिटैलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन के लिए प्रवेश परीक्षा (जेईई 2014) आयोजित कराती है। इसमें सफल होने के पश्चात करीब 32 संस्थानों में प्रवेश का रास्ता मिलता है। इस वर्ष आयोजित होने वाले जेईई के लिए आवेदन आरम्भ हो गए हैं।

कोर्स से संबंधित जानकारी
यह तीन वर्षीय (छह सेमेस्टर) कोर्स है, जिसके अंतर्गत छात्रों को हॉस्पिटैलिटी सेक्टर के लिए आवश्यक दक्षता, ज्ञान और उपकरणीय ज्ञान से अवगत करा दिया जाता है। इसमें प्रथम वर्ष के दौरान फूड प्रोडक्शन की आधारभूत जानकारी, फूड बेवरेज सर्विस, फ्रंट ऑफिस ऑपरेशन, एकोमोडेशन ऑपरेशन, होटल मेंटेनेंस, न्यूट्रीशन, कम्युनिकेशन एवं अकाउंटेंसी की जानकारी तथा दूसरे साल नियम कानून, प्रबंधन, कम्प्यूटर से जुड़ी जानकारी दी जाती है। जबकि अंतिम वर्ष में छात्रों को होटल मैनेजमेंट का पूरा स्ट्रक्चर, मार्केटिंग एवं सेल्स, बिजनेस में आने वाले बदलाव, रिसर्च प्रोजेक्ट एवं अपनी क्रिएटिविटी को दिखाना होता है।

कब कर सकते हैं आवेदन
इस कोर्स के लिए आयोजित प्रवेश परीक्षा जेईई 2014 में बैठने का तभी मौका मिलता है, जब छात्र ने किसी मान्यताप्राप्त संस्थान से अंग्रेजी विषय के साथ बारहवीं की परीक्षा पास की हो। इसमें वे छात्र भी आवेदन कर सकते हैं, जो इस साल बारहवीं की परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं। पर शर्त ये है कि उन्हें एक निश्चित समय अंतराल में योग्यता से संबंधित प्रमाणपत्र जमा करना होगा। इसके साथ ही उनकी अधिकतम आयु 22 वर्ष हो। आरक्षित श्रेणी के छात्रों को आयु संबंधी छूट भी दी जाती है।

प्रवेश परीक्षा का पैटर्न
यह तीन घंटे की प्रवेश परीक्षा होती है, जिसमें दोनों भाषाओं (हिन्दी व अंग्रेजी) में प्रश्न पूछे जाते हैं तथा इंग्लिश लैंग्वेज के खंड का उत्तर अंग्रेजी में देना होता है। प्रश्न न्यूमेरिकल एबिलिटी एंड साइंटिफिक एप्टिटय़ूड, रीजनिंग एंड लॉजिकल डिडक्शन, जनरल नॉलेज एंड करेंट अफेयर्स, इंग्लिश लैंग्वेज, एप्टिटय़ूड फॉर सर्विस सेक्टर आदि सेक्शन से पूछे जाते हैं। इसमें प्रश्नों की कुल संख्या 200 होती है। प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता है तथा गलत उत्तर दिए जाने पर नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है।

अंतिम चयन इंटरव्यू के आधार पर
रिजल्ट की घोषणा नेशनल काउंसिल की वेबसाइट पर की जाती है। प्रवेश परीक्षा में सफल होने के पश्चात चुने गए छात्रों को व्यक्तित्व परीक्षण अथवा इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इसमें चुनिंदा होटल मैनेजमेंट संस्थानों के विशेषज्ञों का एक पैनल होता है, जो छात्र की लीडरशिप क्वालिटी, एकेडमिक एवं पर्सनल क्वालिफिकेशन, होटल इंडस्ट्री व उसके संभावित योगदान को गहराई से परखने की कोशिश करते हैं। इसके अलावा उसकी अन्य अभिरुचि, धर्य एवं तात्कालिक निर्णय लेने की क्षमता को भी आंका जाता है। कम्युनिकेशन स्किल्स पर विशेष जोर दिया जाता है।

तैयारी के आवश्यक चरण
प्रतिदिन पत्र-पत्रिकाओं के अध्ययन के अलावा देश-विदेश की घटनाओं एवं हलचलों पर भी नजर रखें।
अंग्रेजी के प्रश्नों की संख्या अधिक रहती है, इसलिए विलोम, पर्यायवाची, व्याकरण, मुहावरे आदि पर विशेष गौर करें।
गणित के खंड में त्रिकोणमिति के अलावा मेन्सुरेशन, औसत, लाभ-हानि, ज्यामिति आदि के सवाल भी होते हैं। इसकी प्रेक्टिस जरूर करें।
रीजनिंग में वर्बल व नॉन वर्बल प्रश्न दिए जाते हैं। ये काफी घुमावदार होते हैं। इन्हें रट्टा मारने की बजाय समझने का प्रयास करें।
परीक्षा के दौरान अपनी स्पीड बनाये रखने की आवश्यकता होती है, क्योंकि तीन घंटे में 200 प्रश्नों का उत्तर देना होता है।
नेगेटिव मार्किंग होने के कारण प्रश्नों का उत्तर ध्यानपूर्वक लिखने की कोशिश करें। जो न आए, उसे छोड़ कर आगे बढ़ जाएं। अधिक जानकारी के लिए www.nchm.nic.in अथवा www.nchm.gov.in विजिट करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेगेटिव मार्किंग से सावधान