DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

84 दंगों की जांच को उपराज्यपाल की मंजूरी

नई दिल्ली, वरिष्ठ संवाददाता। 1984 के दंगों में मारे गए मामलों को विशेष जांच टीम (एसआईटी) करेगी। सोमवार को इस टीम को गठन के लिए उपराज्यपाल ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। गुरुवार को हुई मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता वाली कैबिनेट इसके गठन का निर्णय लिया गया था।

बताया जा रहा है कि उपराज्यपाल की इस मंजूरी के बाद अब इस टीम के गठन की प्रक्रिया शुरू हो गई है और इसके लिए सरकार नामों की तलाश करेगी। कैबिनेट ने निर्णय लिया था कि यदि मामले की जांच के लिए पुरानी फाइलें खोलने की आवश्यकता पड़ी तो इन फाइलों को भी खोला जाएगा।

एसआईटी एक साल के भीतर अपनी रिपोर्ट देगी। इसके लिए उपराज्यपाल से सिफारशि की गई है कि वे एक जांच टीम का गठन करें। यह मामला 30 साल बाद एसआईआई को सौंपा जा रहा होगी। एसआईटी इन मुद्दों पर करेगा जांच- उन मामलों को जांच जाए जिनका नाम पता नहीं मिलने से मामले बंद किए गए हैं- 84 के उन मामलों प्राथमिकी दर्ज की जाएगी जो अब तक दर्ज नहीं हुए- ऐसे मामलों की जांच होगी जिनके सबूतत और गवाहों को समाप्त कर दिया गया हो- ऐसे मामले जिनमें पर्याप्त सबूत है उनमें चार्टशीट फाइल की जाएगीक्या है मामलों की स्थिति84 के दंगों में दिल्ली में कुल मौत : 2733पुलिस द्वारा दर्ज हत्या के मामले : 400पुलिस द्वारा मामलों में दाखिल क्लोजर रिपोर्ट : 241दंगों से संबंधित मामलों में आया फैसला : 09अदालतों में लांबित मामले : 05दंगा मामले में सजायाफ्ता लोग : 20कुल मामले खारिज : 180 तकरीबन।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:84 दंगों की जांच को उपराज्यपाल की मंजूरी