DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नमो और रागा की तरह सोशल मीडिया पर आए अखिलेश

ग्रेटर नोएडा/पंकज पाराशर। पार्टियां जानती हैं कि आने वाले लोकसभा चुनाव में वोट हासिल करने के लिए केवल बड़ी रैलियां करने से काम नहीं बनेगा। बड़ी मोर्चेबंदी तो इंटरनेट पर चल रही है। सोशल मीडिया में रहने वाले युवा वोटरों को अपने खेमे में खींचने के लिए नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी में भीषण युद्ध छिड़ा है।

अब इसमें यूपी के सीएम अखिलेश यादव भी कूद पड़े हैं। सरकार ने राज्य के बड़े शहरों में ‘टॉक टू योर सीएम’ कैंपेन लांच किया है। ग्रेटर नोएडा में सोमवार को ही बड़े-बड़े होर्डिंग उत्तर प्रदेश सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने लगवाए हैं। युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की बड़ी तस्वीर लगाकर ‘टॉक टू योर सीएम’ लिखा गया है। साथ ही लिखा है कि ‘नोएडा से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एक कमेंट मिला, जिसे पढ़ने के बाद उन्होंने राज्य में 500 मेडिकल सीट बढ़ाने का निर्णय लिया।

’ नीचे युवाओं से अपील की गई है कि ‘उत्तर प्रदेश को बदलने के लिए आप भी सहयोग कर सकते हैं। ’ इसमें फेसबुक और ट्विटर का पता भी दिया है। सरकार ने यह कैंपेन नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद, बरेली, अलीगढ़, कानपुर, लखनऊ समेत पूरे राज्य के शहरी इलाकों में शुरू किया है। अलग शहर के लिए अलग इबारत है। सरकार के अधिकारी इसे मुख्यमंत्री की युवाओं से सीधे संवाद की कोशशि कह रहे हैं, लेकिन विपक्ष में नजर में यह कोरी राजनीति है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा ‘अखिलेश यादव इंटरनेट पर अपनी छवि सुधारने की लाख कोशिशें कर लें लेकिन उत्तर प्रदेश में क्या चल रहा है, हकीकत सबको मालूम है। यह बस चुनावी हथकंडा है। मुझे नहीं लगता कि युवा वोटर इसे तवज्जो देंगे। ’।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नमो और रागा की तरह सोशल मीडिया पर आए अखिलेश