DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाजार में बिजली का तार गिरने से भगदड़, बच्चा झुलसा

जगदीशपुर। जर्जर बिजली तारों के भरोसे टिकी विद्युत व्यवस्था का खामियाजा सोमवार को जगदीशपुर के लोगों को भुगतना पड़ा। भरे बाजार में 11 हजार वोल्ट का विद्युम्त प्रवाहित तार गिरने से भगदड़ मच गयी और उसकी चपेट में आने से तीन लोग जख्मी हो गये, जिसमें एक छह वर्षीय बच्चों की हालत गंभीर है। घटना के चार घंटे बाद भी बिजली विभाग के किसी भी स्तर के अधिकारी अथवा कर्मचारी घटनास्थल पर नहीं पहुंचा जिसके कारण लोगों में रोष है।

बताया जाता है कि नगर पंचायत जगदीशपुर स्थित डीएम रोड में सोमवार को सुबह लगभग साढ़े आठ बजे अचानक जर्जर हो चुका विद्युत धारा प्रवाहित तार गिर गया जिसके कारण इलाके में भगदड़ मच गई। तार गिरने की शोर पर स्थानीय लोग इधर-उधर भागने लगे।

इसी क्रम में अपने मामा ददन ठाकुर के घर आया प्रिंस कुमार बिजली के तार की चपेट में आने से बुरी तरह झुम्लस गया जिसका इलाज आरा में हो रहा है। प्रिंस रांची से अपने मामा के घर आया था, वहीं डीएम रोड निवासी नन्दजी पटवा दरवाजे पर तार गिरने से मामूली रूप से जख्मी हैं।

इस क्रम में सत्यनारायण पासी जो साइकिल पर सवार होकर बाजार जा रहा था, करंट लगने से उसकी चपेट में आ गया। इस दौरान उस रास्ते से गुजर रहा चार पहिया वाहन भी करंट की चपेट मे आ गया और उसमें मामूली रूप आग लग गयी। घटना के बाद स्थानीय लोगों की चौकसी के कारण एक बड़ा हादसा तो फिलहाल टल गया, लेकिन अन्य मुहल्लों के लोग भी जर्जर तारों के गिरने का सिलसिला आगे भी जारी रहने को ले कर सशंकित हैं।

इधर नगर पंचायत जगदीशपुर की अध्यक्ष रीता कुमार ने बताया कि जगदीशपुर शहरी क्षेत्र अन्तर्गत आने वाले पूरब मुहल्ला, सदर बाजार, कोतवाली, पाला पर, मंगरी चौक, अस्पताल रोड, डीएम रोड, कुर्मी टोला, महादेव रोड, बिसेन टोला, कसाई मुहल्ला और महंथ मठिया इलाके का बिजली तार वर्षो पूर्व से जर्जर हो चुका है। प्राथमिकता के आधार पर इन इलाकों के जर्जर तारों को बदलने की मांग की गयी है। नि.सं. सिस्टम की खुली पोलजगदीशपुर में धारा प्रवाहित बिजली तार गिरने की घटना ने सिस्टम की पोल खोल कर रख दी।

बिजली विभाग के सिस्टम में आई कुव्यवस्था का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि घटना के चार घंटों बाद भी बिजली विभाग के संबंधित कार्यपालक अभियंता को इसकी जानकारी नहीं थी।

पत्रकारों की सूचना पर उन्हें जानकारी प्राप्त हुई, वहीं जगदीशपुर के जूनियर इंजीनियर और एसडीओ का फोन बंद पाया गया। इस संबंध में विद्युत कार्यपालक अभियंता ने बताया कि जेई और बिजली एसडीओ प्रशिक्षण के लिए गए हुए हैं। उन्होंने बताया कि जगदीशपुर क्षेत्र में जिन -जिन इलाकों का तार बदला गया है उसकी सूची प्राप्त नहीं हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाजार में बिजली का तार गिरने से भगदड़, बच्चा झुलसा