DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थानाध्यक्ष के सस्पेंशन के खिलाफ सड़क जाम

एक संवाददाता भेल्दी/अमनौर/छपरा। भेल्दी थानाध्यक्ष सहित वहां के चार पुलिस अफसरों को सस्पेंड किये जाने के खिलाफ स्थानीय लोगों ने छपरा-रेवाघाट रोड को जाम कर दिया। आगजनी की और नारे लगाये। लोग थानाध्यक्ष के निलंबन को वापस लेने की मांग कर रहे थे। लोगों ने भेल्दी व सोनहो चौक पर बांस-बल्ला लगा जाम कर दिया। सड़क पर टायर जला आगजनी की और नारेबाजी करते हुए आवागमन को बाधित किया। जाम की वजह से वाहनों की कतारें लग गई।

यात्रियों को भारी परेशानी ङोलनी पड़ी। सोनहो चौक पर सुबह छह बजे ही ग्रामीण सड़क पर उतर गए और नारेबाजी करते हुए रोड को जाम कर दिया। थोड़ी ही देर बाद भेल्दी चौक पर भी यही नजारा दिया। आक्रोशित लोग आला पुलिस अफसरों के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे और थानाध्यक्ष को बेकसूर बताते हुए सस्पेंशन तोड़ने की मांग कर रहे थे। नवनियुक्त थानाध्यक्ष मिथिलेश कुमार प्रदर्शनकारी ग्रामीणों को समझाने की कोशशि करते रहे लेकिन वे उनकी एक सुनने को तैयार नहीं थे।

लोग एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े थे। बाद में मढ़ाैरा डीएसपी कुंदन कुमार सोनहो पहुंचे और लोगों से उनकी मांग से संबंधित ज्ञापन लेकर जाम हटवाया। फिर वे भेल्दी गये और वहां भी जाम हटवाया। मालूम हो कि डय़ूटी के दौरान बिना सूचना के थाने से गायब रहने के बारे में मढ़ारा डीएसपी की रिपोर्ट पर एसपी सुधीर कुमार सिंह ने भेल्दी थानाध्यक्ष श्रीचरण राम, दारोगा रामाय सोरेन, संजय कुमार, एएसआई ब्रजभूषण सिंह और भवेश कुमार को सस्पेंड कर दिया है।

वहीं सैप जवान वीरेन्द्र सिंह, चंद्रशेखर झा और अब्दुल सतार का वेतन रोक दी है। इस संबंध में पूछे जाने पर एसपी सुधीर कुमार ने बताया कि भेल्दी थानाध्यक्ष व अन्य पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई पूरी तरह से विधिसम्मत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:थानाध्यक्ष के सस्पेंशन के खिलाफ सड़क जाम