DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज खाएंगे साथ जीने-मरने की कसमें, मनाया टैडी डे

गोपालगंज। संवाद सूत्र। वैलेंटाइन वीक के चौथे दिन टैडी डे पर यानी सोमवार को गिफ्ट की दुकानों पर अच्छी भीड़ देखने को मिली। गिफ्ट के दुकानों पर युवाओं के आने-जाने से खूब चहल-पहल दिखी। मौका था प्रेम के महोत्सव वैलेंटाइन वीक के एक और अनोखे दिन का यानी टैडी डे का। इस दिन भी प्रेमी जोड़े चोरी-छिपे एक दूसरे से मिले,फिर क्या था, शुरू हो गया तोहफे लेने-देने का दौर, और आज प्रॉमिस डे पर कसमें भी खाएंगे कि सातों जन्म एक-दूसरे के साथ रहेंगे।

प्रेमिकाओं ने तो टैडी के रूप में ही अपने प्रेमी के मुखड़े को निहार लिया और दिल से लगाकर मीठे सपनों को देखा। प्रेमियों ने भी अपनी प्रमिकाओं के पसंद का अच्छे से ख्याल रखा और पहले ही पता लगाकर अपनी प्रेयसी के मनपसंद रंगों के टैडी को खरीदकर तोहफे में दिया। हांलाकि, तोहफे के लेन-देन में युवतियां भी पीछे नहीं रहीं। युवतियों ने भी खूब तोहफे खरीदकर अपने प्रेमी को दिया। ताकि, वे इस याद को अपने दिल में सजाकर रख सके।

इसी बीच कुछ युवाओं ने अपने अनुभवों को साझा किया। शहर के इन्द्रपुरी मुहल्ले के एक युवा सत्येन्द्र चौरसिया बताते हैं कि रविवार को व्यस्त होने की वजह से अपनी प्रेमिका के साथ समय नहीं गुजार सके, जिसकी वजह वह मुझसे नाराज हो गई। क्या करें रूठना तो उनकी अदा है।

इसलिए आज टैड़ी डे के अवसर पर उसके पसंदीदा लाल रंग का टैडी तोहफे में खरीद लिया है,वो इसे देखकर खुश होंगी। दूसरी ओर इन्द्रपुरी मुहल्ले के ही सुमित सिंह कहते हैं कि कौन कहता है कि प्रेम-विवाह सफल नही होता, पांच वर्ष पूर्व मैने अनीता से शादी की वे घर के परिवार को संभालती है,सभी को खुश रखने का प्रयास करती हैं।

टैडी डे के अवसर पर हमदोनों ने एकदूसरे के तोहफे दिए और भगवान से कामना की कि दामपत्य जीवन खुशमय हो। इनके जैसे शहर में कई युवा और शादीशुदा लोगों ने भी वैलेंटाइन के इस अवसर का खाली न जाने दिया। उन्होनें भी तोहफे खरीदे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आज खाएंगे साथ जीने-मरने की कसमें, मनाया टैडी डे