DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एड्स बचाव कर्मियों की भूख हड़ताल

नई दिल्ली, प्रमुख संवाददाता। विभिन्न मांगों को लेकर तीन फरवरी से भूख हड़ताल पर बैठे सात में से चार एड्स बचाव कर्मियों की हालत शनिवार को बेहद खराब हो गई। खून में ग्लूकोज की मात्रा कम होने व बेहोश होने की शिकायत पर उन्हें राममनोहर लोहिया अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया गया, हालांकि रविवार तक सभी को वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। ऑल इंडिया एड्स एम्पलाइज एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी सत्यवीर सिंह ने बताया कि एड्स की जांच और एआरटी सेंटर पर इस समय देशभर में 35 हजार कार्यकर्ता काम कर रहे हैं स्थाई नौकरी और अन्य भत्तों को लेकर पहले भी कई बार कर्मचारियां में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से मिले हैं।

सात दिन से अधिक अनशन करने पर शनिवार को संगठन के मध्यप्रदेशके अध्यक्ष वीरेन्द्र गोस्वामी, चन्द्र मेहता, विनोद शर्मा और विजय को अस्पताल में भर्ती किया गया। मालूम हो कि कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने के कारण देशभर में 10 लाख एआरटी सेंटर पर 30 लाख से अधिक एचआईवी मरीजों का इलाज बाधित हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एड्स बचाव कर्मियों की भूख हड़ताल