DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्मचारियों ने लगाया निगम प्रबंधन पर उत्पीड़न का आरोप

देहरादून। हमारे संवाददाता। यूनियन चुनाव में एजेंसी और संविदा कर्मचारियों को शामिल करने की मांग को लेकर उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के बैनर तले कर्मचारियों ने आईएसबीटी पर प्रदर्शन किया। यूनियन ने आंदोलनरत कर्मचारियों के खिलाफ परवहिन निगम की कार्रवाई की भी घोर निंदा की है। इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि सुशील राठी के उचित कार्रवाई के आश्वासन पर कर्मचारियों ने आईएसबीटी पर चल रहे धरने को समाप्त कर दिया है। उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत हरिद्वार, ऋषिकेश, कोटद्वार, रुड़की के कर्मचारी आईएसबीटी पर एकत्र हुए और प्रदर्शन किया।

यूनियन की प्रांतीय महामंत्री अशोक कुमार ने कहा कि यूनियन चुनाव में एजेंसी और संविदा कर्मचारियों को शामिल नहीं कर निगम उनकी उपेक्षा कर रहा है। जबकि निगम की बसों के सफल संचालन में इनका महत्वपूर्ण योगदान है। इसलिए वे मांग कर रहे हैं कि इन कर्मचारियों को भी चुनाव में शामिल किया जाए। इस मौके पर दून से हरेंद्र कुमार, क्षेत्रीय मंत्री केपी सिंह, परमजीत सिंह, संदीप कुमार, अंकुर छोकर, विनय जोशी, महेश मिश्रा, प्रवीन कुमार, सुभाष कुमार, जितेंद्र कुमार, परमिंद्र, कुवरपाल, विपिन कुमार निरंकार, अनिल कुमार, राजीव चौधरी, नरेश पाल, हरिद्वार से राजेंद्र सविाच, विनोद कुमार, हरपाल सिंह, ब्रह्म सिंह सैनी, ऋषिकेश से देवेंद्र मान, विकास कुमार, हरेंद्र कुमार, सतीश तिवारी, सहेंद्रपाल, उमेश कुमार, रुड़की से राज सिंह, प्रमोद धूमा, महेश सैनी, राजकुमार राणा, कोटद्वार यशपाल सिंह, ब्रजबीर सिंह, नरेंद्र सिंह, राजकुमारसुशील राठी ने दिया उचित कार्रवाई का आश्वासन चालक-फिटर पिटाई विवाद में आंदोलन कर रहे उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन से सांसद प्रतिनिधि सुशील राठी मिले।

सुशील राठी ने आश्वासन दिया कि वे किसी भी सूरत में कर्मचारियों का उत्पीड़न नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि वह जल्द सीएम हरीश रावत से कर्मचारियों की वार्ता कराकर समाधान निकालने का प्रयास करेंगे। जनहित को देखते हुए बसों का सफल संचालन होने दें। सुशील राठी के आश्वासन पर कर्मचारियों ने धरना समाप्त कर दिया है। प्रतिदिन पांच कर्मचारी करेंगे क्रमिक अनशनकर्मचारियों के ट्रांसफर और बर्खास्ती के विरोध में कर्मचारियों ने प्रतिदिन आईएसबीटी पर क्रमिक अनशन करने का निर्णय लिया है।

यूनियन नेता केपी सिंह ने बताया कि प्रतिदिन सहायक महाप्रबंधक ब डिपो के बाहर पांच कर्मचारी क्रमिक अनशन करेंगे। उन्होंने कहा कि जनहित को ध्यान में रखते हुए बसों का संचालन ठप नहीं किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कर्मचारियों ने लगाया निगम प्रबंधन पर उत्पीड़न का आरोप