DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीचे झूलते बिजली के तार बने खतरे का सबब

शिवाला कलां/नूरपुर। हमारे संवाददाता।  ग्राम शिवाला कलां में जहां एक ओर टूटे-फूटे खंभों पर होकर जा रही 444 और 11 हजार की लाईट और रोड को क्रॉस करने वाले तार नीचे की और लटके रहते हैं। तारों के नीचे से जब कोई वाहन गुजरता है तो तार आपस में टच हो जाते हैं। इसके कारण शॉर्टसर्किट हो जाता है। सबसे ज्यादा खतरा रहता है गांवों में लगने वाले साप्ताहिक बाजार को, जो सड़क के किनारे लगता है और बाजार में सामान को खरीदने और बेचने वाले ज्यादातर बिजली के तारों के नीचे ही रहते हैं।

इससे हादसा होने का खतरा रहता है। ग्राम के अंदर कोई दिन ऐसा नहीं होता जब बिजली के आने पर शॉर्टसर्किट न होता हो। शॉर्टसर्किट के भय के कारण स्कूल को जाने वाले बच्चों को सड़क पर ही चलकर जाना पड़ता है। सड़क पर होकर यिद बच्चों स्कूल जाएंगे तो शॉर्टसर्किट के चलते दुर्घटना का भय बना रहता है। लोगों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से इस ओर ध्यान देने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नीचे झूलते बिजली के तार बने खतरे का सबब