DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फांसी से लटकता मिला विवाहिता का शव

 प्रतापगढ़। िनज संवाददाता। लालगंज इलाके के सगरा सुंदरपुर में फेरी लगाने वाले युवक की पत्नी का शव शिनवार रात फांसी के फंदे पर लटकता पाया गया। मृतका के भाई ने पित व ससुरालवालों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया है। उसका कहना है कि गला दबाकर हत्या करने के बाद लाश फांसी पर लटकाई गई।

लालगंज कोतवाल का कहना है कि लाश के पोस्टमार्टम के बाद मौत की वजह साफ हो जाएगी। कन्नौजजिंले के सौिरख, दारापुर में रहने वाले महेन्द्र सिंह का बेटा राकेश फेरी लगाकर ऊन बेचने का काम करता है। 17 जून 2011 को उसकी शादी औरैया, बिबियापुर के शंकरपुर गोचाह में रहने वाले अर्जुन सिंह की बेटी बितान (22) से हुई थी। शादी के कुछ महीने बाद राकेश बितान को लेकर सगरा सुंदरपुर चला आया। अभी दोनों के कोई संतान नहीं थी।

किराये के कमरे में दोनों रहने लगे। सगरा सुंदरपुर में ही बितान का भाई अतर सिंह व बुआ का बेटा राम प्रसाद भी रहते हैं। सभी ऊन की फेरी लगाते हैं।

पित-पत्नी के बीच जमकर हुई थी मारपीट मकान में रहने वाले अन्य किरायेदारों की मानें तो शिनवार रात राकेश और बितान में झगड़ा और मारपीट हुई थी। उधर बितान के भाई अतर सिंह ने पुलिस को बताया कि शादी के बाद राकेश और उसके पिता महेन्द्र व मां इंद्रवती बाइक के लिए दबाव बना रहे थे।

बाइक न मिलने पर आए दिन बितान की िपटाई करते थे। जब बाइक नहीं मिली तो उसकी बहन की हत्या कर लाश फांसी के फंदे से टांग दी।

राकेश ने कहा पर्स के लिए हुआ था झगड़ा

राकेश ने अपनी पत्नी की हत्या से इंकार करते हुए कहा कि शिनवार रात वह पर्स लेकर बाजार जा रहा था। इस पर बितान ने पर्स लेकर बाजार जाने से मना कर दिया। इसी बात पर पित-पत्नी में झगड़ा और मारपीट हुई थी। इसके बाद वह गुटखा खाने कमरे से बाहर िनकल गया।

वापस आया तो बितान छत के चुल्ले में साड़ी का फंदा बांधकर लटक रही थी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फांसी से लटकता मिला विवाहिता का शव