DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाय दुकानदारों में नमो टी स्टॉल बनने की दीवानगी

भागलपुर। तरुण कुमार। भाजपा के घोषित प्रधानमंत्री उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी देशभर के कुछ प्रमुख चाय दुकानदारों से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये एक साथ बात करेंगे। इसके लिए हर जगह के कुछ खास चाय दुकानदारों का चयन किया जा रहा है। भागलपुर में भी इसकी तैयारी हो रही है। ऐसे दुकानदारों का नाम तय किया जा रहा है।

नरेन्द्र मोदी खुद को एक चाय बेचने वाला बताते रहे हैं। लिहाजा मोदी के इस मुहिम से भागलपुर के चाय दुकानदार भी उत्साहित हैं। इन दुकानदारों का कहना है कि नरेन्द्र मोदी एक चाय बेचने वाले परिवार का बेटा है और यह सभी चाय दुकानदारों के लिए गर्व की बात है कि वह प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बने हैं। यूं तो वीडियो कांफ्रेसिंग के लिए जिन दुकानों की संभावित सूची बनायी गई है, वह अलग है लेकिन शनिवार को हिन्दुस्तान संवाददाता ने शहर के कुछ नामचीन चाय दुकानों पर जाकर दुकानदार से नरेन्द्र मोदी के इस अभियान के बारे में बातचीत की।

नमो के नाम से गौरवान्वित नंदू चाय वाला मानिकसरकार चौक पर नन्दू मंडल की चाय दुकान 30 साल से भी अधिक पुरानी है। नन्दू की चाय पूरे भागलपुर में प्रसिद्ध है। यहां चाय की चुस्कियों के साथ अक्सर राजनीतिक चर्चाएं सुनने को मिल सकती हैं। चूंकि नन्दू के ग्राहकों में ज्यादातर पढ़े लिखे लोग हैं, इसलिए राजनीति की संभावनाओं पर यहां की चर्चा खास होती है। नन्दू कहते हैं नरेन्द्र मोदी चाय वाले के परिवार से ताल्लुक रखने वाला इंसान है।

आज इस बात की खुशी है कि वह प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बने हैं। सबसे खास बात यह है कि राजनीति में इतनी ऊंचाइयों पर पहुंचकर भी वह अपने अतीत को भूले नहीं हैं। नन्दू कहते हैं कि जब नरेन्द्र मोदी खुद को एक चाय बेचने वाला बताते हैं तो उनका सीना भी गर्व से फूल जाता है। नन्दू कहते हैं कि उनकी दुकान में वीडियो कांफ्रेसिंग हो या न हो, लेकिन वह नरेन्द्र मोदी के संदेश को अपने ग्राहकों के बीच रखते रहेंगे।

राजू टी स्टोर को वीडियो कांफ्रेसिंग का इंतजार बूढ़ानाथ चौक पर राजू टी स्टॉल भी शहर के कुछ नामचीन चाय दुकानों में से एक है। एक झोपड़ी से शुरू हुई यह चाय दुकान आज आधुनिक रूप ले चुका है। शहर में एक मात्र यही दुकान है, जहां चाय पीने के लिए कई वैकल्पिक पात्र उपलब्ध हैं। जैसे- भांड़, शीशे का ग्लास, प्लास्टिक का कप आदि। राजू की दुकान का भाजपा की सीएजी टीम ने सर्वे भी किया है। राजू कहते हैं कि दिन भर में उनकी दुकान में सैकड़ो लोग आते हैं और उनकी बातों को वह सुनते हैं।

अधिकांश लोगों के मन में नरेन्द्र मोदी की छवि अच्छी है। वह कहते हैं कि बतौर एक चाय दुकानदार वह यह जरूर चाहेंगे कि मोदी प्रधानमंत्री बनें। राजू ने बाकायदा अपनी दुकान में भाजपा का सिम्बॉल भी लगा रखा है। वह नरेन्द्र मोदी के वीडियो कांफ्रेसिंग का इंतजार कर रहे हैं। स्टेशन चौक के चाय दुकानदार उत्साहित स्टेशन चौक पर राजीव राय टी स्टॉल है। दिन रात यहां चाय पीने वालों की कतार लगी होती है। चूंकि दुकान स्टेशन चौक पर है, इसलिए यहां भांति-भांति के लोग आते हैं।

दुकान रमेश दास चलाते हैं। वह कहते हैं उनका ही नहीं सभी चाय दुकानदारों का सपना है कि नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बनें। वह कहते हैं कि अगर उनकी दुकान पर वीडियो कांफ्रेसिंग नहीं भी होती है तो वह उन दुकानों पर जाकर उनका संदेश सुनेंगे, जहां वह संबोधित करेंगे। मोदी को चाय वाले की स्थिति का अहसास परबत्ती में वीरन चाय स्टोर और पवनदेव राय की दुकान पर कालेज के शिक्षक और छात्र भी चाय पीने पहुंचते हैं। वीरन चाय स्टोर चलाने वाले अनिरुद्ध प्रसाद को यह जानकारी नहीं कि नरेन्द्र मोदी वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये चाय दुकानदारों से बात करेंगे।

वह यह जरूर कहते हैं कि नरेन्द्र मोदी ने चाय की दुकान से यहां तक का सफर तय किया है और उन्हें गरीबों और गरीबी का अहसास है। इसलिए वह इस तबके को कभी नहीं भूलेंगे। जिलाध्यक्ष कहते हैं नमो टी स्टॉल की योजना 15 फरवरी के बाद शुरू होगी। इसके लिए किट का आवंटन होगा और यह काम सीएजी टीम के माध्यम से कराया जाएगा। अभी उसके लिए तिथि निर्धारित नहीं की गई है। नभय चौधरी, जिलाध्यक्ष, भागलपुर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चाय दुकानदारों में नमो टी स्टॉल बनने की दीवानगी