अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निजी क्षेत्र में एक लाख करोड़ का निवेश होगा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सकल घरलू उत्पाद में 8.5 फीसदी की वृद्धि की जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार सार्वजनिक क्षेत्र में 60 हजार करोड़ रुपए का निवेश करगी जबकि निजी क्षेत्र में एक लाख करोड़ रुपए से अधिक का निवेश होगा। इस निवेश के बाद बिहार में 50 लाख लोगों के लिए रोजगार की व्यवस्था हो जाएगी। मुख्यमंत्री अपने आवास पर 11 वीं पंचवर्षीय योजना के तत्वावधान में सभी विभागों की कार्ययोजना की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 11 वीं पंचवर्षीय योजना का मुख्य लक्ष्य है राज्य का त्वरित विकास जो जन-जन तक पहुंचे। राष्ट्रीय योजना के उद्देश्यों के अनुरूप विकास के लिए नीतियों का पुनगर्ठन किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने कहा कि परियोजनाओं और कार्यक्रमों के समय पर कुशलता से कार्यान्वयन के लिए 21 अनुश्रवणीय लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। उद्योग के क्षेत्र में 11 प्रतिशत वृद्धि के लिए सभी 38 जिलों में उद्योग केन्द्र की स्थापना की जाएगी। कृषि के समेकित विकास के लिए 6135.रोड़ रुपए की लागत पर कृषि रोड मैप बनाया गया है, जिसका क्रियान्वयन चार सालों में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बिहार में हर वर्ष 25 लाख बच्चे ड्रॉप आउट होते थे, लेकिन अब इनकी संख्या घटकर 10 लाख रह गई है। पहले चरण में 1.37 लाख शिक्षकों की नियुक्ित के बाद दूसर चरण में एक लाख शिक्षकों की नियुक्ित की प्रक्रिया शुरू है। महादलितों को समाज की मुख्य धारा में लाने के लिए महादलित आयोग का गठन किया गया है। विकासशील आधारभूत संरचनाओं यथा सड़क,पुल, बिजली, सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण पर ध्यान देने के साथ-साथ सामाजिक आधारभूत संरचनाओं यथा शिक्षा, समाज कल्याण तथा शहरी विकास में अधिक पूंजी निवेश किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: निजी क्षेत्र में एक लाख करोड़ का निवेश होगा