DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विक्रमादित्य पोत में खराबी रक्षा मंत्रालय हुआ परेशान

भारतीय नौसेना के सबसे बड़े और महंगे विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य में खामियों ने सरकार के सामने परेशानी खड़ी कर दी है। रूस के बंदरगाह से कर्नाटक के कारवार तट के 14,800 किलोमीटर के सफर के दौरान पोत में खराबी आई। इसके बाद साउथ ब्लॉक स्थित रक्षा मंत्रालय के गलियारे में इस महंगी खरीद को लेकर कंपकंपी है।

आठ साल तक मरम्मत की प्रक्रिया से गुजरने के बाद पुराना पोत विक्रमादित्य 7 जनवरी को 42 दिन का सफर कर भारतीय तट पर पहुंचा। यात्रा में 56 किलोमीटर की अधिकतम गति से संचालन के दौरान इसमें दिक्कतें आईं। बताया जाता है कि इसके बॉयलर में खराबी आ गई। सूत्रों के मुताबिक पोत की बॉयलर में खराबी का पुराना इतिहास रहा है। कहा जा रहा है कि पुर्तगाल के तट के पास इसके टैंकर में तेल डालने में भी दिक्कतें आई।

पोत में ये कमियां इसकी आगे की सफलता पर सवालिया निशान लगा रही हैं। रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक पांच साल देर से प्राप्त हुए इस पोत को भारत लाने के दौरान तकनीकी समस्याएं सामने आईं। इस मामले में नौसेना से विस्तृत रिपोर्ट मांगी जाएगी। सूत्रों के मुताबिक यात्रा के दौरान पोत के आठ बॉयलरों में से एक में खराबी आई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विक्रमादित्य पोत में खराबी रक्षा मंत्रालय हुआ परेशान