DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्वोत्तर के पिछड़ेपन पर जवाब दें पीएम

पूर्वोत्तर के पिछड़ेपन पर जवाब दें पीएम

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने शनिवार को यहां अपनी दो रैलियों में कांग्रेस पर पूर्वोत्तर राज्यों के विकास मे नाकाम रहने का आरोप लगाया। इंफाल में बोलते हुए मोदी ने अरुणाचल के छात्र नीडो तानिया की दिल्ली में मौत के मामले को राष्ट्रीय शर्म बताया। साथ ही केंद्र और दिल्ली की सरकार को आरोप-प्रत्यारोप का खेल बंद कर नीडो को न्याय दिलाने की नसीहत दी। गुवाहाटी में मोदी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर जोरदार हमला बोला।

उन्होंने कहा कि पिछले 23 साल से राज्यसभा में पूर्वोत्तर का प्रतिनिधित्व करने के बावजूद मनमोहन वहां विकास नहीं करा पाए। कांग्रेस के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री को सिर्फ परियोजनाओं की आधारशिला रखने या फीता काटने के लिए बुलाते रहे लेकिन इसके आगे कुछ भी नहीं हुआ।

असम से अगर किसी सामान्य कार्यकर्ता ने इतने वर्षों तक राज्य का प्रतिनिधित्व किया होता तो उसने राज्य की तस्वीर बदल दी होती। उन्होंने याद दिलाया कि राजग के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पहल करते हुए पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए एक पृथक मंत्रालय गठित किया। अटल ने विकास के लिए कदम उठाए थे लेकिन राज्यों और केंद्र की कांग्रेस सरकारों ने भ्रष्टाचार ही किया।

उन्होंने यहां भी कांग्रेस के 60 सालों के बदले 60 महीने सेवा का अवसर मांगा। असम की भूमि के बांग्लादेश से लेनदेन का मसला उठाते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस नेता सोचते हैं कि देश उनकी निजी संपत्ति है। क्या इसके लिए उन्होंने असम या देश की जनता से इजाजत ली? चाय से पुराने रिश्ते का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि असम की पत्तियों से बनी चाय को उबालकर उन्होंने लोगों में जोश भरने का काम किया है।

पूर्वोत्तर की 1600 महिला पुलिसकर्मी चाहते हैं मोदी: मोदी ने कहा कि वह पूर्वोत्तर राज्यों की अंग्रेजी बोलने वाली महिला पुलिसकर्मियों को अपने राज्य में विदेशी पर्यटकों से बात करते हुए देखना चाहते हैं। मुख्यमंत्रियों की बैठक में उन्होंने पूर्वोत्तर के सभी राज्यों में प्रत्येक को दो वर्ष के लिए प्रतिनियुक्ति पर भेजने का अनुरोध किया था। उन्होंने अफसोस जताया कि किसी राज्य ने इन कर्मियों को उनके पास नहीं भेजा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्वोत्तर के पिछड़ेपन पर जवाब दें पीएम