अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिल्मी चमक से दूर रहिए लालू जी

रेल मंत्री लालू प्रसाद के ब्लॉग में सुझावों के साथ-साथ रेलवे के बारे में शिकायतों की भरमार है। जहां कुछ ब्लॉगर राजद प्रमुख को फिल्मों में अभिनय करते देखना चाहते हैं, वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं जो चाहते हैं कि यह करश्माई नेता बिहारियों के आत्मविश्वास को उठान के लिए कुछ करें। लालू ने अपने ब्लॉग में बॉलीवुड अभिनेत्री हेमा मालिनी के प्रति अपने लगाव और किसी फिल्म में उनके साथ अभिनय करन की इच्छा जताई है। उन्होंने रेलवे की सफलता और मुद्रास्फीति के बारे में अपने विचार भी व्यक्त किए हैं।ड्ढr ड्ढr एक पाठक ने लालू को राजनीति पर ध्यान देने और फिल्मी चमक-दमक से दूर रहन की सलाह देते हुए कहा है-लालूजी रेलवे पर ध्यान दीजिए। फिल्मों में सिर्फ बंदर नाचते हैं पालिटिशियन नहीं। आशा ने गुस्से में सवाल किया है कि क्या आरक्षण काउंटर दलालों के लिए ही खोले गए हैं। उन्होंने मंत्री से आग्रह किया है कि वे आम लोगों को दलालों के दलदल से बचाएं। किशनगंज के तन्मय का भी आरोप है कि आरक्षण काउंटर दलालों का अड्डा बन गए हैं। ब्लॉग में पटना जंक्शन पर खान की चीजों की खराब गुणवत्ता के बारे में भी शिकायत की गई है। प्रणव शाही पटना स्टेशन को बेहतर बनान की मांग करते हुए कहते हैं कि परोपकार की शुरुआत घर से ही होती है। पटना स्टेशन को हर मामले में विश्वस्तरीय बनाया जाना चाहिए। पटना जंक्शन को अनधिकृत दुकानदारों से मुक्त किया जाना चाहिए। अशोक कुमार मुंबई के रेलवे स्टेशन की बुरी हालत की ओर उनका ध्यान खींचते हैं।ड्ढr ड्ढr अमित पांडे चाहते हैं कि बिहार में सूचना तकनीकी व्यापक तौर पर इस्तेमाल हो। कुमार गौरव लालू से सवाल करते हैं कि महाराष्ट्र में बिहार के लोगों को नीची नजर से क्यों देखा जाता है। तिलक ऋषि कहते हैं कि आपका जीवन और उपलब्धियां अबतक की किसी भी बॉलीवुड फिल्म से बढ़िया पटकथा बन सकती है। यदि इस फिल्म को ‘गुरु’ के निर्माता मणि रत्नम बनायें तो फिल्म अब तक की सबसे सफल फिल्म होगी। दुबई निवासी पप्पी कहते हैं कि मैं बेताबी से इंतजार कर रहा हूं कि आप और शाहरुख किसी फिल्म में एक साथ दिखाई दें और अगर यह फिल्म दुबई में रिलीज हुई तो इसके पहले शा को देखने वाला पहला व्यक्ित मैं होऊंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फिल्मी चमक से दूर रहिए लालू जी