DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर दिन मानती हूं तैनाती का आखिरी दिन

कानपुर। प्रमुख संवाददाता। 2004 बैच की आईएएस अफसर डॉ. रोशन जैकब ने शनिवार दोपहर कानपुर नगर जिले का कार्यभार संभाल लिया। प्रेस से बातचीत में उन्होंने कहा कि हर दिन को जिले में तैनाती का आखिरी दिन मान कर काम करती हैं। हर पल का सदुपयोग जनता के काम के लिए होना चाहिए। वह अफसरों पर राजनीतिक दबाव संबंधी सवाल का जवाब दे रही थीं।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कह कर भेजा है कि कानपुर में कम वक्त में बहुत काम करने की चुनौती है। मूल रूप से केरल निवासी डॉ. जैकब कानपुर से पहले बस्ती और गोंडा में डीएम रही हैं। विशेष सचवि उद्योग के रूप में भी काम किया है। उन्होंने कहा कि रोज 10 से 12 बजे के बीच जनता की समस्याएं सुनेंगी। इससे तहसील दिवसों में शिकायतें घटेंगी। लंबित मामलों की संख्या कम होगी। गंदगी, जाम और अतिक्रमण यहां की मुख्य समस्याएं हैं।

इनसे निपटने को नगर निगम और केडीए के साथ बेहतर समन्वय बनाएंगी। चुनाव की तैयारियों के साथ-साथ जारी विकास कार्य तय वक्त में पूरे कराना प्राथमिकता में होगा। उन्होंने माना कि राजनीतिक दबाव हर जिले में रहता है, लेकिन इससे काम में कोई बाधा नहीं आती। सभी का मकसद जनता की सेवा है। निल कैश, 52 अरब के स्टैंप और 70 चाभियों का चार्जडॉ. जैकब सबसे पहले कोषागार पहुंचीं। वहां तमाम दस्तावेजों और परसिंपत्तियों के अलावा उन्होंने निल कैश, 52 अरब के स्टाम्प और 70 चाबियों का चार्ज ग्रहण किया है।

तमाम विभागों के डीडीओ की ये चाबियां परंपरागत रूप से कोषागार में रहती हैं। चार्ज संभालने के बाद वह सर्किट हाउस पहुंचीं, जहां अधिकारियों के साथ बैठक कर महत्वपूर्ण जानकारियां लीं। 10 फरवरी को चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि में मुख्यमंत्री का कार्यक्रम है। उसकी तैयारियों का जायजा लेने सीएसए गईं, जहां हेलीपैड, वीवीआईपी गैलरी, सेफ हाउस, अस्थायी अस्पताल, सुरक्षा इंतजाम आदि के बारे में जानकारी ली। कुलपति से भी बात की। इसके बाद वह पूर्व डीएम समीर वर्मा से मिलीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हर दिन मानती हूं तैनाती का आखिरी दिन