DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत के ओलंपिक अभियान में वापसी की उम्मीद

भारत के ओलंपिक अभियान में वापसी की उम्मीद

विवादों से घिरी आईओए रविवार को अपने चुनाव कराएगी जिसमें शीर्ष संस्था आईओसी से निलंबित होने के 14 महीने बाद भारत के ओलंपिक अभियान में वापसी का रास्ता साफ होने की उम्मीद है।
 
विश्व स्क्वाश महासंघ के अध्यक्ष और बीसीसीआई प्रमुख के छोटे भाई एन रामचंद्रन के चुनावों में निर्विरोध भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) का अध्यक्ष चुने जाने की उम्मीद है। अभय सिंह चौटाला और ललित भनोट को चुनाव में भाग लेने से रोक दिया गया था क्योंकि वे अदालत की नजर में आरोपी हैं।
    
भारतीय खो-खो महासंघ के अध्यक्ष राजीव मेहता और अखिल भारतीय टेनिस संघ के प्रमुख अनिल खन्ना को क्रमश: महासचिव और कोषाध्यक्ष के पद पर निर्विरोध चुना जाएगा। चौटाला और भनोट को पांच दिसंबर 2012 में हुए आईओए चुनावों में क्रमश: अध्यक्ष और महासचिव चुना गया था, एक दिन बाद ही आईओसी ने सरकारी हस्तक्षेप और चुनावी प्रक्रिया में दागी व्यक्तियों को भाग लेने की अनुमति देने के लिए भारत को निलंबित कर दिया। आईओसी ने चुनावों को अमान्य घोषित किया था।

कल सिर्फ उपाध्यक्षों के लिए चुनाव होंगे क्योंकि आठ पदों के लिए नौ उम्मीदवार दौड़ में होंगे तथा चुनाव आईओसी के तीन पर्यवेक्षकों और खेल मंत्रालय के अधिकारी की उपस्थिति में कराए जाएंगे। चुनाव आईओए के तीन सदस्यीय चुनाव आयोग द्वारा आयोजित किए जाएंगे और इससे पहले विशेष आम सालाना बैठक की जाएगी जिसमें आईओसी के अधिकारियों की मौजूदगी में संविधान में संशोधन किया जायेगा ताकि स्पष्ट होगा कि दागी व्यक्तियों को आईओए के सदस्य के तौर पर हटना होगा, इसके अलावा उन्हें चुनाव में भाग लेने से भी रोक दिया जाएगा।
 
आईओए के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि यह छोटी प्रक्रिया होगी। आम बैठक में संविधान में एक छोटा संशोधन होगा फिर इसके तुरंत बाद चुनावी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। आईओसी ने हाल में संकेत दिया था कि भारत को आईओए चुनावों के बाद ओलंपिक अभियान में वापस लाया जा सकता है। आईओसी अध्यक्ष थामस बाक ने कल से सोची में शुरू होने वाले शीतकालीन खेलों से पहले भी भारत की वापसी का संकेत दिया था, लेकिन अगर आईओए खेलों से पहले अपने चुनाव कराता।

आईओसी द्वारा भारत पर लगे प्रतिबंध के कारण तीन भारतीय एथलीट शीतकालीन खेलों के उद्घाटन समारोह में तिरंगे के तले भाग नहीं ले सके जिससे देश को शर्मसार करने के लिये आईओए को चारों ओर से आलोचना झेलनी पड़ी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत के ओलंपिक अभियान में वापसी की उम्मीद