DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांचवीं बार फीफा अध्यक्ष बनना चाहते हैं ब्लेटर

पांचवीं बार फीफा अध्यक्ष बनना चाहते हैं ब्लेटर

विश्व फुटबॉल महासंघ (फीफा) के अध्यक्ष सैप ब्लेटर ने कहा है कि अगर उन्हें सदस्य संघों का साथ मिलता है तो वह पांचवें कार्यकाल के लिए तैयार हैं।
       
स्विटजरलैंड के 77 साल के ब्लेटर ने फ्रांसीसी भाषा के स्विसपब्लिक रेडियो आरटीएस से कहा कि मेरा स्वास्थ्य अच्छा है और मेरे पास ऐसा सोचने का कोई कारण नहीं है कि मुझे काम क्यों नहीं करना चाहिए। अगर सदस्य संघ मुझे फिर से अपनी उम्मीदवारी पेश करने के लिए कहते हैं तो मैं उन्हें मना नहीं कर पाऊंगा।
       
साल 1998 से फीफा के अध्यक्ष पद पर बरकरार हैं और मार्च में 78 साल के होने जा रहे हैं। फीफा के अध्यक्ष पद का अगला चुनाव 2015 में होगा। फीफा के 209 सदस्य संघों के पास एक-एक वोट है। ब्लेटर साल 2011 में अपने प्रतिद्वंद्वी मोहम्मद बिन हम्माम के भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण चुनाव से हटने के बाद चौथी बार अध्यक्ष चुने गए थे।
       
सोच्चि में शुक्रवार से शुरू हुए शीतकालीन खेलों के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने गए ब्लेटर ने इससे पहले कहा था कि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) को सदस्यों के लिए निर्धारित उम्र की सीमा को समाप्त कर देना चाहिए।
       
ब्लेटर ने कहा कि फीफा ने इस बारे में अपना अध्ययन कराया था और इसमें पाया गया कि उम्र की बाध्यता भेदभावपूर्ण है और आईओसी को इसे समाप्त कर देना चाहिए। उन्होंने यहां आईओसी के सत्र में कहा कि हमने पाया कि उम्र की सीमा थोपना भेदभावपूर्ण है। किसी भी काम को लोकतांत्रिक तरीके से किया जाना चाहिए। किसी के चयन के लिए उम्र नहीं बल्कि उसकी कर्मठता शर्त होनी चाहिए। अगर कोई काम करने में सक्षम नहीं है तो उसे नहीं चुना जाना चाहिए।
       
सॉल्ट लेक सिटी गेम्स घूसकांड के मद्देनजर आईओसी में उम्र की बाध्यता अनिवार्य की गई थी। इसके मुताबिक अगर कोई सदस्य 1999 के बाद आईओसी में शामिल हुआ है तो उसे 70 साल का होते ही इस्तीफा देना होगा। साल 1999 से पहले आईओसी का सदस्य बने लोगों के लिए यह सीमा 80 साल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांचवीं बार फीफा अध्यक्ष बनना चाहते हैं ब्लेटर